बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Gold Silver1 महीने में 1000 रुपए सस्‍ता हो सकता है सोना, 4 माह के निचले स्‍तर पर वायदा भाव

1 महीने में 1000 रुपए सस्‍ता हो सकता है सोना, 4 माह के निचले स्‍तर पर वायदा भाव

ग्लोबल मार्केट में कीमतों में कमी, रिटेल मार्केट में डिमांड में सुस्ती से सोना 1000 रुपए तक सस्ता हो सकता है।

1 of

नई दिल्ली. आप यदि सोना खरीदने की योजना बना रहे हैं, तो आने वाले दिनों में आपको अच्छा मौका मिल सकता है। ग्लोबल मार्केट में सोने की कीमतों में कमी और रिटेल मार्केट में डिमांड में सुस्ती से अगले एक महीने में सोना 1000 रुपए तक सस्ता हो सकता है। सोमवार को वायदा बाजार में सोने का भाव 4 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गया। फिलहाल, रिटेल मार्केट में सोने की कीमत 30,300 रुपए प्रति 10 ग्राम है।


क्यों आई सोने में गिरावट

सोमवार को वायदा बाजार में सोने की कीमतें पिछले चार महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई हैं। दरअसल डॉलर में रिकवरी से ग्लोबल मार्केट में गिरावट देखने को मिली है। वहीं रुपए में भी रिकवरी से घरेलू बाजार में कीमतों पर दोहरा दबाव है। सोना 29,000 रुपए के स्तर पर आ गया है।

 

ये भी पढ़ें- शादी की ज्वैलरी खरीदने के लिए ये हैं फेमस मार्केट, मिलेगा 20-30% तक डिस्काउंट

 

ये फैक्टर्स गोल्ड पर रहेंगे हावी

 

क्रेडिट का अभाव

दिल्ली के रत्नचंद ज्वालानाथ ज्वैलर्स के मालिक तरुण गुप्ता के मुताबिक, सोने की खरीददारी कैश में होती है। इसमें क्रेडिट नहीं मिलता है। इसका असर सोने की कीमतों पर हुआ है। इससे डिमांड में कमी आई है।

 

तरुण ने कहा, इसके अलावा 15 दिसंबर से खरमास शुरू हो रहा है। जो अगले एक महीने तक रहेगा। इस दौरान कोई नई चीज नहीं खरीदी जाती है। इसका भी सोने की मांग पर असर पड़ सकता है। मांग में गिरावट से सोना और कमजोर होगा, जिससे भाव हजार रुपए तक टूट सकता है।


फेड रेट में बढ़ोतरी के संकेत

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि फेडरल रिजर्व की इस महीने होने वाली बैठक में इंटरेस्ट रेट में बढ़ोतरी की पूरी संभावना है। फेड रेट में बढ़ोतरी से डॉलर इंडेक्स मजबूत होगा। इसका असर सोने की कीमतों पर पड़ेगा।


जियोपॉलिटिकल टेंशन में कमी

केडिया ने कहा कि सोना एक सेफ हैवन इन्वेस्टमेंट के तौर पर माना जाता है। जियोपॉलिटिकल टेंशन बढ़ने पर सोने में निवेश बढ़ जाता है। फिलहाल जियोपॉलिटिकल टेंशन में कमी आई है जिससे सोना कमजोर हुआ है।

 

ये भी पढ़ें- भारत में सोने की डिमांड 24% घटकर 146 टन हुई, इन्वेस्टमेंट भी 23% कम रहा

 

सोने पर इम्पोर्ट ड्यूटी हो सकती है कम

एंजेल ब्रोकिंग के कमेाडिटी एंड रिसर्च वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि सरकार सोने पर इम्पोर्ट ड्यूटी कम करने का विचार कर रही है। इम्पोर्ट ड्यूटी में कम करने असर सोने पर पड़ेगा और सोने का भाव नीचे आ जाएगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट