बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Gold Silverअक्षय तृतीया: खरीदने जा रहे हैं सोना, तो न करें ये गलतियां

अक्षय तृतीया: खरीदने जा रहे हैं सोना, तो न करें ये गलतियां

ज्‍यादातर लोग बिना ज्‍यादा ध्यान दिए सोना खरीद लेते हैं और उससे जुड़ी सावधानियों को नजरअंदाज कर देते हैं।

1 of

नई दिल्‍ली. 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है। साथ ही शादी का सीजन भी शुरू होने वाला है। ऐसे में कई लोग सोने की खरीदारी करते हैं। लेकिन ज्‍यादातर लोग बिना ज्‍यादा ध्यान दिए सोना खरीद लेते हैं और उससे जुड़ी सावधानियों को नजरअंदाज कर देते हैं। इसके चलते कई लोग सोने की खरीदारी में धोखा भी खा जाते हैं। इसलिए जरूरी है कि सोना खरीदते वक्‍त कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रखा जाए और लापरवाही से बचा जाए। आइए आपको बताते हैं कि आपको सोने की खरीदारी के वक्‍त क्‍या गलतियां नहीं करनी चाहिए- 

 

शुद्धता को न करें नजरअंदाज

खन्‍ना जेम्‍स प्राइवेट लिमिटेड के फाउंडर और मैनेजिंग डायरेक्‍टर पंकज खन्‍ना के मुताबिक, सोना खरीदते वक्‍त शुद्धता का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी है। अगर आप प्‍योर गोल्‍ड लेना चाहते हैं तो यह 24 कैरेट का होता है। हालांकि आपको ज्‍वैलरी 100 फीसदी प्‍योर गोल्‍ड में नहीं मिलेगी। इसकी वजह है कि सोना बहुत लचीला और सॉफ्ट होता है। इसके चलते 24 कैरट की ज्‍वैलरी नहीं बन पाती है। ज्‍वैलरी में 22 कैरेट या 18 कैरेट गोल्‍ड का इस्‍तेमाल होता है। लेकिन गोल्‍ड बार या सिक्‍का प्‍योर गोल्‍ड में खरीदा जा सकता है। 

 

आगे पढ़ें- और किन गलतियों से है बचना

कीमत को लेकर न हो जाए ठगी

ध्‍यान रखें कि 22 कैरेट गोल्‍ड 24 कैरेट गोल्‍ड से सस्‍ता होता है। चूंकि ज्‍वैलरी 22 कैरेट गोल्‍ड की होती है, इसलिए इसकी कीमत 24 कैरेट गोल्‍ड के हिसाब से नहीं होगी। इसलिए ध्‍यान रखें कि कोई आपसे प्‍योर गोल्‍ड ज्‍वैलरी बोलकर 22 कैरेट ज्‍वैलरी के लिए 24 कैरेट के हिसाब से पैसे न वसूल ले। ज्‍वैलर से सोने की शुद्धता और कीमत को बिल पर जरूर लिखवाएं।

 

आगे पढ़ें- भारी पड़ेगी हॉलमार्क की अनदेखी

हॉलमार्क की अनदेखी 

ज्‍यादातर लोग ज्‍वैलरी खरीदते वक्‍त हॉलमार्क को अनदेखा करते हैं। जबकि जरूरी यह है कि हॉलमार्क के बिना ज्‍वैलरी न खरीदी जाए। बीआईएस हॉलमार्क सोने की शुद्धता का सबूत होता है। इसलिए इसे नजरअंदाज करना जोखिम भरा हो सकता है। 

 

आगे पढ़ें- स्‍टडेड ज्‍वैलरी में लापरवाही

स्‍टडेड ज्‍वैलरी के मामले में लापरवाही 

स्‍टडेड गोल्‍ड ज्‍वैलरी में ज्‍वैलर आपसे नग की कीमत भी लेते हैं। जब भी आप ऐसी ज्‍वैलरी खरीदें तो उसमें लगे स्‍टोन्‍स या जेम्‍स की शुद्धता का सर्टिफिकेट जरूर लें। साथ ही उनकी कीमत और वजन भी बिल पर लें। रतन चंद ज्‍वैलर्स के तरुण गुप्‍ता के मुताबिक, वैसे तो ज्‍वैलर्स कस्‍टमर को स्‍टडेड चीजों की कीमत और वजन भी बिल पर अलग से देते हैं। लेकिन कुछ ज्‍वैलर्स स्‍टडेट ज्‍वैलरी में लगे स्‍टोन्‍स और जेम्‍स को भी सोने की कीमत में ही लगाते हैं। वजन करते वक्‍त उनका वजन अलग से नहीं किया जाता है। जब आप उस ज्‍वैलरी को बेचते हैं तो नगों का दाम अलग होता है और सोने का अलग। ऐसे में आपको नुकसान हो जाता है। 1 या 2 छोटे स्‍टोन्‍स होने पर फर्क नहीं पड़ता लेकिन हैवी वर्क होने पर ध्‍यान देना जरूरी हो जाता है। ऐसे में अगर स्‍टोन्‍स की कीमत सोने से कम है तो सावधानी बरतना जरूरी है। बिल पर स्‍टडेड चीजों के दाम और वजन अलग से दिया होने पर आप धोखे से बच जाएंगे। शुद्धता का सर्टिफिकेट आपको नकली जेम्‍स व स्‍टोन्‍स की असली के हिसाब से कीमत देने से बचाएगा। 

 

आगे पढ़ें- बिल न लेना

बिल न लेना 

सोने की खरीदारी करते वक्‍त उसका पक्‍का बिल जरूर लें। कई लोग जान-पहचान की दुकान से खरीदारी करते वक्‍त बिल को तवज्‍जो नहीं देते। लेकिन यह गलत है। सोना चाहे जहां से खरीदें लेकिन उसका पक्‍का बिल लेना न भूलें। ये भी ध्‍यान रखें कि उसमें खरीदी गई ज्‍वैलरी, मेकिंग चार्ज और दुकानदार आदि की पूरी डिटेल हो।  

 

आगे पढ़ें- मेकिंग चार्ज का ध्‍यान रखना भी जरूरी

गोल्‍ड ज्‍वेलरी का मेकिंग चार्ज

जब आप गोल्‍ड ज्‍वेलरी बनवाते हैं तो उस पर किए गए काम के हिसाब से मेकिंग चार्ज लिया जाता है। ज्‍वेलरी में काम जितना बारीक होता है मेकिंग चार्ज ज्‍यादा रहता है। अक्‍सर देखा गया है कि छोटी सी ज्‍वेलरी पर भी कुछ ज्‍वेलर्स उतना ही चार्ज वसूलते हैं, जितना बड़ी व हैवी ज्‍वेलरी पर। फेस्टिवल्‍स के टाइम पर डिमांड ज्‍यादा रहती है, इसी का फायदा उठाते हुए ज्‍वैलर बहुत ज्‍यादा मेकिंग चार्ज वसूल लेते हैं। ज्‍यादातर कस्‍टमर के पास वक्‍त कम होता है और उन्‍हें ज्‍वैलरी चाहिए होती है, इसलिए वह बहुत ज्‍यादा बार्गेन किए बिना ज्‍वैलर द्वारा बताया मेकिंग चार्ज देने के लिए तैयार हो जाते हैं। लेकिन सही तो यह है कि ऐसा न करें। गोल्‍ड ज्‍वेलरी लेते वक्‍त मेकिंग चार्ज को लेकर आप जितनी बार्गेनिंग कर सकते हैं, करें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट