बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Energy2014 के बाद पहली बार क्रूड ने 75 डॉलर/बैरल के लेवल को पार किया, बाद में सऊदी अरब के ऐलान के बाद आई गिरावट

2014 के बाद पहली बार क्रूड ने 75 डॉलर/बैरल के लेवल को पार किया, बाद में सऊदी अरब के ऐलान के बाद आई गिरावट

लीबिया द्वारा क्रूड का एक्सपोर्ट आंशिक तौर पर रोकेे जाने से ग्लोबल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतें 75 डॉलर को पार कर गईं

Oil hits 75 dollar for first time since 2014 on supply outages in Libya

 

नई दिल्ली. लीबिया के अपने दो अहम पोर्ट्स से एक्सपोर्ट रोके जाने के ऐलान से मंगलवार को ग्लोबल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतें 75 डॉलर प्रति बैरल के पार चली गईं। नवंबर, 2014 के बाद ऐसा पहली बार है जब क्रूड की कीमतों ने यह स्तर क्रॉस किया है। इंटरनेशनल मार्केट नायमैक्स पर यूएस लाइट क्रूड 1.15 फीसदी या 1.5 फीसदी बढ़कर 75.08 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया। वहीं बेंचमार्क ब्रेंड क्रूड की कीमतें 70 सेंट चढ़कर 78 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गईं। हालांकि बाद में सऊदी अरब के क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए अतिरिक्त कैपेसिटी के इस्तेमाल करने से संबंधित बयान के बाद क्रूड ऑयल टूटकर 73 अरब डॉलर के नीचे आ गया। 

 

 

 

बीते महीने ठप हो गया था कनाडा का एक ऑयल फील्ड

बीते महीने बिजली गुल होने कनाडा के एक ऑयल फील्ड से क्रूड का 3,60,000 बैरल प्रति दिन का उत्पादन ठप हो गया था और इसके पूरे जुलाई महीने में बंद रहने का अनुमान है। इससे अमेरिका में क्रूड की इन्वेंट्री में कमी आई। रॉयटर्स के एक सर्वे में अमेरिका में क्रूड की इन्वेंट्री में लगातार चौथे सप्ताह में कमी आने का अनुमान है।

 

 

लीबिया के दो पोर्ट से एक्सपोर्ट ठप

वहीं लीबिया की नेशनल कॉर्पोरेशन ने सोमवार को अपने जुइतिना और हरिगा पोर्ट्स से क्रूड की लोडिंग रोकने का ऐलान किया था, जिससे 8,50,000 बैरल प्रति दिन क्रूड का उत्पादन रुक गया है।

 

 

आगे बढ़ सकती है चुनौती

लंदन के एक ब्रोकरेज के एक्सपर्ट ने कहा, ‘लीबिया द्वारा अपने दो अहम पोर्ट्स से ऑयल का एक्सपोर्ट बंद होने से तेजड़ियों को मौका मिला है।’ एक्सपर्ट्स ने कहा, ‘यदि लीबिया का ऑयल की आमद जल्द मार्केट में शुरू नहीं होती है तो ऐसे हालात में ओपेक की अतिरिक्त क्षमता के लिए कड़ी चुनौती साबित होगा। यह इसलिए भी अहम है कि अगले दो महीनों में अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण वेनेजुएला और ईरान से भी क्रूड की सप्लाई घटने लगेगी।’

 

 

मॉर्गन स्टैनली ने ब्रेंट क्रूड के लिए बढ़ाया अनुमान

मॉर्गन स्टैनली ने इस साल की दूसरी छमाही के लिए ब्रेंट का अपना फोरकास्ट 7.50 डॉलर बढ़ाकर 85 डॉलर प्रति बैरल कर दिया है, क्योंकि उसने  ईरान, अंगोला और लीबिया से सप्लाई घटने का अनुमान भी जाहिर किया है। वहीं यूएई की अबूधाबी नेशनल ऑयल कंपनी ने कहा कि वह जरूरत पड़ने पर प्रति दिन सैकड़ों-हजारों बैरल प्रति दिन उत्पादन बढ़ा सकती है। इस साल सप्लाई में कमी के चलते ऑयल की कीमतों में लगातार मजबूती देखने को मिल रही है, हालांकि इसमें आगे भी नरमी की संभावना नहीं है।

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट