Advertisement
Home » Market » Commodity » EnergyNow you can get money for power cut

बिना बताए बिजली कटे तो यहां करें शिकायत, आपको मिलेगा पैसा, लागू हुए नए नियम

इस राज्य के उपभोक्ताओं को मिलेगा लाभ

1 of

नई दिल्ली। यदि आप बार-बार बिजली जाने पर परेशान हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब आप बिना बताए बिजली जाने की शिकायत करें और बिजली कंपनी आपको पैसा भी देगी। जीहां, यह बिलकुल सच है और आपका इससे कमाई कर सकते हैं। दरअसल, देश की राजधानी दिल्ली में बिजली कटौती को लेकर दिल्ली इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमिशन (डीईआरसी) ने बिजली कंपनियों की नकेल कसी है। डीईआरसी के नए नियमों के अनुसार, अब यदि कंपनियां बिना बताए बिजली कटौती करती हैं तो उनको उपभोक्ताओं को 50 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से जुर्माना देना होगा। 

 

दिल्ली सरकार ने भेजा था प्रस्ताव

 

दिल्ली में हो रही अनियमित बिजली कटौती पर रोक लगाने के उद्देश्य से दिल्ली सरकार ने डीईआरसी के पास हर्जाना लगाने को लेकर प्रस्ताव भेजा था। अब डीईआरसी ने इस प्रस्ताव को कुछ संशोधनों के बाद लागू कर दिया है। नए प्रस्ताव के अनुसार, पहले दो घंटे की कटौती के लिए बिजली कंपनियों को 50 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से हर्जाना देना होगा। यदि कटौती 2 घंटे से ज्यादा होती है तो कंपनियों को 100 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से हर्जाना देना होगा। 

 

आगे पढ़ें-- हर्जाने का भुगतान नहीं करने पर लगेगी पेनल्टी

5,000 रुपए का लगेगा जुर्माना

 

नए प्रस्ताव के अनुसार, बिजली कंपनियों को उपभोक्ताओं को यह हर्जाना बिना क्लेम देना होगा। प्रस्ताव के अनुसार यदि बिजली कंपनी उपभोक्ता को हर्जाना नहीं देती हैं तो वह दिल्ली सरकार के कंज्यूमर ग्रिवांस रिड्रेसल फोरम में क्लेम कर सकता है। यदि उपभोक्ता का दावा सही पाया जाता है तो कंपनियों को 5,000 रुपए तक का जुर्माना देना पड़ सकता है। 

 

आगे पढ़ें-- मात्र तीन घंटे में बदल जाएगा फुंका हुआ मीटर

मीटर फूंकने पर लोगों को मिलेगी राहत


नए प्रस्ताव में मीटर फूंकने पर उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी गई है। प्रस्ताव के अनुसार, यदि किसी उपभोक्ता का मीटर फूंक जाता है तो बिजली कंपनियों को उसे 3 घंटे के भीतर बदलना होगा। यदि कंपनियां ऐसा नहीं करती हैं तो उन्हें उपभोक्ता को 50 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से हर्जाना देना होगा। बिजली कटौती के मामले में कंपनियों को 90 दिन में हर्जाना देना पड़ेगा। इस हर्जाने को बिजली बिल में समायोजित किया जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement