बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » EnergyPetrol Price: लगातार तीसरे दिन नहीं बदले पेट्रोल-डीजल के भाव, ब्रेंट क्रूड महंगा होने से दबाव

Petrol Price: लगातार तीसरे दिन नहीं बदले पेट्रोल-डीजल के भाव, ब्रेंट क्रूड महंगा होने से दबाव

इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड का भाव बढ़ने से तेल कंपनियों पर पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर दबाव है।

petrol and diesel prices unchange on 29 june 2018 friday

नई दिल्ली। शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड का भाव बढ़ने से तेल कंपनियों ने कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है। इसके पहले मंगलवार को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत मि‍ली थी। सबसे ज्यादा मुंबई में पेट्रोल 18 पैसे सस्ता हुआ था। वहीं डीजल के दाम में 14 पैसे की कमी आई थी। पिछले 30 दिनों में पेट्रोल करीब 3 रुपए प्रति लीटर और डीजल 2 रुपए प्रति लीटर तक सस्ता हुआ है। 

 

 

ब्रेंट क्रूड 77.65 डॉलर के भाव पर
इंटरनेशनल मार्केट में ब्रेंट क्रूड में एक बार फिर तेजी दिख रही है। ब्रेंट क्रूड की कीमतें बढ़कर 77.65 डॉलर प्रति बैरल पर आ गई हैं। पिछले 5 दिनों में कीमतों में करीब 3 डॉलर की बढ़ोत्तरी हुई है। हालांकि ओपेक देशों ने क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमति जता दी है, लेकिन फैसले को लागू करने को लेकर मार्केट में संशय बना हुआ है। वहीं, इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की सप्लाई टाइट है, दूसरी ओर यूएस ने चीन और भारत जैसे इंपोर्टर देशों से ईरान से तेल न खरीदने को कहा है। इससे क्रूड को लेकर सेंटीमेंट बदल गए हैं। 

 

 

देश के 4 महानगरों में पेट्रोल की कीमतें

 

शहर

कीमत (29 जून का रेट )

दिल्ली

75.55 रुपए

कोलकाता

78.23 रुपए

मुंबई

83.12 रुपए

चेन्नई

78.40 रुपए

 

 

देश के 4 महानगरों में डीजल की कीमतें

शहर

नई कीमत (29 जून का रेट)

दिल्ली

67.38 रुपए

कोलकाता

69.93 रुपए

मुंबई

71.52 रुपए

चेन्नई

71.12 रुपए

 

स्रोतः IOCL

 

2018 की दूसरी छमाही में पेट्रोल-डीजल में नरमी की उम्मीद 

 

पेक के सप्लाई बढ़ाने के फैसले से जहां शनिवार को क्रूड की कीमतें बढ़कर 75.55 डॉलर प्रति बैरल तक चली गई थीं, वहीं, क्रूड 1.45 डॉलर प्रति बैरल सस्ता होकर 74.10 डॉलर प्रति बैरल तक आ गया है। ए‍क्सपर्ट्स का कहना है कि क्रूड की सप्लाई को बढ़ाने के फैसले को जैसे जैसे अमल में लाया जाएगा, कीमतें नीचे आएंगी। इस वजह से साल 2018 में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में नरमी बनी रहने की उम्मीद है।

 

ओपेक देश रोजाना 10 लाख बैरल प्रोडक्शन बढ़ाने को राजी

 

पेक देशों के साथ रूस जुलाई से रोजाना 10 लाख बैरल क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमत हुआ है। सऊदी एनर्जी मिनिस्टर खालिद अल-फलिह ने वियना में हुई बैठक के बाद पत्रकारों को कहा कि मुझे लगता है कि यह दूसरी छमाही में आने वाली अतिरिक्त मांग को पूरा करने में महत्वपूर्ण योगदान देगा। पेट्रोलियम एक्सपोर्ट करने वाले देशों और सहयोगी देशों के संगठनों के बीच 18 महीने के सप्लाई कटौती समझौते में संशोधन पर बातचीत केंद्रित थी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट