Home » Market » Commodity » EnergyPetrol Price: petrol price for today 22 june 2018 friday

Petrol Price: पेट्रोल 18 पैसे/लीटर तक हुआ सस्ता, 24 दिन में 2.43 रुपए/लीटर घटी कीमतें

शुक्रवार को महानगरों में पेट्रोल 18 पैसे प्रति लीटर तक सस्ता हो गया है।

Petrol Price: petrol price for today 22 june 2018 friday

नई दिल्ली। शुक्रवार को पेट्रोल की कीमतों में तेल कंपनियों ने राहत दी है। महानगरों में पेट्रोल 18 पैसे प्रति लीटर तक सस्ता हो गया है। दिल्ली में जहां पेट्रोल 14 पैसे प्रति लीटर, वहीं कोलकाता में 13 पैसे, मुंबई में 18 पैसे और चेन्नई में 15 पैसे प्रति लीटर तक सस्ता हुआ है। हालांकि डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया गया है। गुरूवार को पेट्रोल-डीजल में 14 पैसे प्रति लीटर तक राहत मिली थी। इंडियन आसॅयल की वेबसाइट के मुताबिक दिल्ली में पेट्रोल की नई कीमत 76.02 रुपए प्रति लीटर हो गई है। 

 

 

24 दिन में पेट्रोल 2.43 रुपए/लीटर सस्ता
पिछले 24 दिनों की बात करें तो महानगरों में पेट्रोल 2.43 रुपए प्रति लीटर तक सस्ता हो चुका है। वहीं, डीजल 1.67 रुपए प्रति लीटर सस्ता हुआ है। बता दें कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें पिछले 30 दिनों में 6 डॉलर प्रति बैरल तक कम हुई हैं। जिसका फायदा कंज्यूमर्स को पेट्रोल-डीजल की कीमतों में मिल रहा है।

 

देश के 4 महानगरों में पेट्रोल की कीमतें

 

शहर

कीमत (22 जून का रेट )

दिल्ली

76.02 रुपए

कोलकाता

78.70 रुपए

मुंबई

83.74 रुपए

चेन्नई

78.89 रुपए

 

 

देश के 4 महानगरों में डीजल की कीमतें

 

शहर

नई कीमत (21 जून का रेट)

दिल्ली

67.68 रुपए

कोलकाता

70.23 रुपए

मुंबई

71.99 रुपए

चेन्नई

71.44 रुपए

स्रोतः IOCL

 

क्रूड प्रोडक्शन पर अहम फैसला
22 जून यानी आज शुक्रवार को वियना में ओपेक देश क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने को लेकर अहम फैसला कर सकते हैं। बता दें कि इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की बढ़ती कीमतों को देखते हुए सऊदी अरब ने सप्लाई बढ़ाकर कीमतें काबू करने का प्रपोजल दिया है। प्रपोजल पर पहले ईरान सहित 3 ने विरोध जताया था, लेकिन अब वह भी कम मात्रा में सप्लाई बढ़ाने पर सहमत हो गया है। वहीं, रूस भी प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमत है। अगर प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमति बनती है तो क्रूड में गिरावट बन सकती है। फिलमाल अब मार्केट की नजर इसी फैसले पर है। 


क्रूड 74 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर
बता दें कि 2016 के अंत में क्रूड की गिरती कीमतों को देखते हुए ओपेक और नॉन ओपेक देशों ने क्रूड प्रोडक्शन घटाने को लेकर एग्रीमेंट किया था। जिसके बाद पिछले 2 साल में क्रूड की कीमतें लगातार बढ़ी हैं। गुरूवार को क्रूड की कीमतें करीब 74 डॉलर प्रति बैरल के रेंज पर बंद हुईं। सप्लाई बढ़ने के संकेतों से पिछले एक महीने के दौरान क्रूड में करीब 6 डॉलर प्रति बैरल की गिरावट आ चुकी है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट