बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Energyक्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने के प्रस्‍ताव का विरोध करेगा ईरान, 22 जून को ओपेक देशों की बैठक

क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने के प्रस्‍ताव का विरोध करेगा ईरान, 22 जून को ओपेक देशों की बैठक

ईरान, सऊदी अरब के क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाए जाने के प्रपोजल का विरोध करेगा।

Iran to oppose Saudi proposal to increase OPEC crude output proposal

नई दिल्ली। क्रूड के सस्ते होने का इंतजार कर रहे देशों के लिए अच्छी खबर नहीं है। ईरान, सऊदी अरब के क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाए जाने के प्रपोजल का विरोध करेगा। ईरान की ओर से साफ किया गया है कि वह क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमत नहीं है। न्यूज एजेंसी के अनुसार इस बारे में ईरान के रीप्रेजेंटेटिव ने जानकारी दी है। बता दें कि आगे क्रूड प्रोडक्शन को लेकर 22 जून को वियना में ऑर्गनाइजेशन ऑफ द पेट्रोलियम एक्सपोर्टिंग कंट्रीज यानी ओपेक की मीटिंग होने जा रही है। 

 


इसके पहले ओपेक देशों और रूस की ओर से यह संकेत मिल रहे थे कि क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने पर सहमति बन सकती है। यह प्रपोजल प्रमुख क्रूड प्रोड्यूसर देश सऊदी अरब की ओर से आया था। इससे इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें कम होने के आसार बन रहे थे। अगर ऐसा होता तो भारत सहित क्रूड इंपोर्ट करने वाले देशों को राहत मिल सकती थी। बता दें कि इंटरनेशनल मार्केट में हाल ही में क्रूड 80.50 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया था। लेकिन ओपेक देशों और रूस द्वारा प्रोडक्शन बढ़ाए जाने के संकेतों से इसमें कमी आई है। 

 

ईरान व 2 अन्‍य देश कर सकते हैं वीटो
जानकारी के अनुसार ईरान, वेनेजुएला और इराक ओपेक देशों की मीटिंग में सऊदी अरब के क्रूड प्रोडक्शन बढ़ाने के प्रपोजल पर वीटो कर सकते हैं। ईरान के रिप्रेजेंटेटिव की ओर से यह भी कहा गया है कि अगर रूस भी प्रोडक्शन बढ़ाने को लेकर राजी होता है तो यह कोऑपरेशन एग्रीमेंट का उल्लंघन होगा। 

 

कीमतें बैलेंस करने के लिए बनी थी सहमति
पिछले साल क्रूड की कीमतें लगातार गिरने की वजह से ओपेक मेंबर्स क्रूड प्रोडक्शन घटाने पर सहमत हुए थे। ऐसा कीमतों को बैलेंस करने के लिए किया गया था। इस बारे में ओपेक और कुछ नॉन ओपेक देशों मसलन रूस, मेक्सिको और ओमान जैसे देशों से एग्रीमेंट हुआ था। ओपेक देश 1.2 मिलियन बैरल प्रति दिन से बढ़ाकर 32.5 मिलियन बैरल प्रति दिन कटौती करने पर सहमत हुए। वहीं, नॉन ओपेक देश 5.58 लाख बैरल प्रति दिन प्रोडक्शन घटाने पर सहमत हुए थे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट