बिज़नेस न्यूज़ » Market » Commodity » Energyईरान से दोगुना ऑयल इम्पोर्ट करेगा भारत, इंसेंटिव ऑफर को भुनाने का बनाया प्लान

ईरान से दोगुना ऑयल इम्पोर्ट करेगा भारत, इंसेंटिव ऑफर को भुनाने का बनाया प्लान

भारत सरकार क्रूड बेचने के लिए ईरान द्वारा की गई इंसेंटिव की पेशकश को भुनाने के मूड में है।

1 of

नई दिल्ली. भारत सरकार क्रूड बेचने के लिए ईरान द्वारा की गई इंसेंटिव की पेशकश को भुनाने के मूड में है। इस क्रम में सरकारी रिफाइनरियों ने वित्त वर्ष 2018-19 में ईरान से ऑयल इंपोर्ट दोगुना करने की योजना बनाई है। वहीं ईरान ने तीसरे बड़े ऑयल इंपोर्टर देश में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाने के लिए यह ऑफर दिया है।

 


ईरान एशिया में अपने ऑयल कस्टमर्स को बनाए रखने के लिए सऊदी अरब जैसे अन्य अरब देशों की तुलना में आकर्षक शर्तों की पेशकश कर रहा है। ईरान ने हाल में ज्यादा खरीद पर भारतीय कंपनियों को फ्रेट पर डिस्काउंट ऑफर किया था। भारत के लिए यह इसलिए भी अहम है, क्योंकि वह चीन के बाद ईरान का दूसरा बड़ा क्लाइंट है।

ऑयल इंपोर्ट दोगुना करेगा भारत

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, इस डेवलपमेंट की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने कहा कि सरकारी रिफाइनर्स इंडियन ऑयल कॉर्प, मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने अप्रैल, 2018 से शुरू हुए वित्त वर्ष के दौरान ईरान से 3.96 लाख बैरल प्रति दिन (बीपीडी) ऑयल के इंपोर्ट की योजना बनाई है। हालांकि इस मसले पर इंडियन ऑयल, मंगलोर रिफाइनरी एंड पेट्रोकेमिकल्स, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम ने कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। इन चारों रिफाइनिंग कंपनियों ने पिछले वित्त वर्ष में ईरान से लगभग 2.05 लाख बीपीडी ऑयल का इंपोर्ट किया था।

 

अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद ईरान से घटा था इंपोर्ट
अमेरिकी प्रतिबंधों से पहले ईरान, भारत के लिए दूसरा बड़ा ऑयल सप्लायर देश था, जिसके बाद 2016-17 में वह सऊदी अरब और इराक के बाद तीसरे पायदान पर आ गया था। हालांकि अब प्रतिबंध हटने के बाद ईरान धीरे-धीरे भारत में अपना मार्केट शेयर बढ़ा रहा है।

 

तीसरा बड़ा एक्सपोर्टर है ईरान

2017-18 के आधिकारिक आंकड़े अभी तक उपलब्ध नहीं है, हालांकि सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अप्रैल, 2017 से फरवरी, 2018 के बीच ईरान के लिए भारत तीसरा बड़ा ऑयल एक्सपोर्टर रहा। वहीं इराक, सऊदी अरब को पछाड़कर भारत के लिए सबसे बड़ा सप्लायर बन गया।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss