Home » Market » Commodity » EnergyDEA Secretary says No excise duty cut on petrol, diesel

पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने पर फिलहाल विचार नहीं कर रही है सरकार

सरकार पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने पर फिलहाल विचार नहीं कर रही है।

DEA Secretary says No excise duty cut on petrol, diesel

नई दिल्‍ली। सरकार पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने पर फिलहाल विचार नहीं कर रही है। आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने सोमवार को कहा कि अभी दाम उस स्तर पर नहीं पहुंचे हैं, जिसके लिए इस तरह का कदम उठाया जाए। बता दें कि पिछले एक हफ्ते से पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कोई बदलाव नहीं हुआ है।


'दाम बढ़ने पर विचार करते, लेकिन ऐसा हुआ नहीं'


- गर्ग ने कहा, अगर सरकार एलपीजी की कीमतों को बढ़ाती है तो तेल की कीमतें सरकार के वित्तीय गणित पर असर डालेंगी। अगर क्रूड के दाम एक निश्चित सीमा तक पहुंच जाते हैं तब इनडायरेक्ट सब्सिडी प्रभाव में आएगी और ऐसे में एक्साइज ड्यूटी वगैरह घटाने पर दोबारा विचार किया जा सकता है। लेकिन, ऐसा अभी तक नहीं हुआ है।'

 

'1 रुपए एक्साइज ड्यूटी घटने पर 13 हजार करोड़ का राजस्व घाटा'


- गर्ग ने ये नहीं बताया कि किस सीमा तक तेल के दाम बढ़ने पर एक्साइज ड्यूटी घटाने पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर तेल के दाम बढ़े नहीं हैं, तो ऐसे में एक्साइज ड्यूटी घटाने की कोई वजह नहीं है। एक्साइज ड्यूटी में हर एक रुपया घटाने पर 13 हजार करोड़ रुपए का राजस्व का घाटा होता है।
- गर्ग से न्यूज एजेंसी ने सवाल किया कि क्या कर्नाटक चुनाव तक एक्साइज ड्यूटी कम करने या तेल कंपनियों से दाम स्थिर रखने जैसा कोई विचार है, तो उन्होंने कहा- हमने ऐसा कुछ नहीं लगता है।

 

'आगे नहीं बढ़ेंगे तेल के दाम'


- आर्थिक मामलों के सचिव ने कहा, "हो सकता है कि दामों में हालिया बढ़ोतरी स्टॉक की कमी और सीरया और कोरिया के आसपास व्यापारिक तनाव और भौगोलिक राजनीतिक के चलते हुई। मुझे ऐसा नहीं लगता कि आने वाले वक्त में दाम बढ़ेंगे। इसीलिए मैं कह रहा हूं कि ये नीचे भी आएंगे। मुझे लगता है कि मांग और आपूर्ति के हालात भी सही हो रहे है। मुझे लगता है कि भौगेलिक मसले भी अब रास्ते से हट रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट