विज्ञापन
Home » Market » Commodity » EnergySaudi Arabia aims to make India an Asian petroleum hub

पाकिस्तान को लगेगा झटका, सऊदी अरब भारतीय पेट्रोलियम सेक्टर में करेगा बड़ा निवेश

सऊदी अरब ने कहा- हम भारत के साथ बेहतर और मजबूत संबंध चाहते हैं

1 of

नई दिल्ली। सऊदी अरब कच्चे तेल की आपूर्ति के लिए भारत को केंद्र बनाने पर विचार कर रहा है। दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक सऊदी अरब भारत में पेट्रोलियम प्रॉडक्ट्स के डिस्ट्रीब्यूशन और मार्केटिंग क्षेत्र में भी निवेश करेगा। सऊदी अरब के विदेश मंत्री अदेल बिन अहमद अल-जुबेर के अुनसार, भंडारण सुविधाओं के निर्माण और रिफाइनरी को सुदृढ़ करने में उनका देश अरबों डॉलर निवेश करेगा। सऊदी अरब के विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि उनका देश भारत की तेल मांग को पूरा करने को प्रतिबद्ध है और अधिक कच्चा तेल बेचने को तैयार है। बता दें कि सऊदी से पाकिस्तान के रिश्ते अच्छे हैं, इसके बावजूद भारत में सऊदी बड़ा निवेश करेगा।

 

 

अल जुबेर ने कहा, 'हम भारत को क्षेत्र में कच्चे तेल की आपूर्ति का केंद्र बनाने पर गौर कर रहे हैं। हम यहां भंडारण सुविधाएं बनाने पर विचार कर रहे हैं। हम रिफाइनरी और डिस्ट्रीब्यूशन और मार्केटिंग क्षेत्र पर भी गौर कर रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'हम ऐसी ढांचागत सुविधा में निवेश कर रहे हैं जो भारत को पेट्रोलियम उत्पादों के आयात और निर्यात के काबिल बनाएगा।' 

 

महाराष्ट्र में रिफाइनरी परियोजना में होगा भागीदार
हाल ही में सऊदी अरब ने यह घोषणा की कि दुनिया की सबसे बड़ी तेल निर्यातक कंपनी सऊदी अरामको महाराष्ट्र में 44 अरब डॉलर की लागत से संयुक्त उद्यम के तहत स्थापित होने वाली रिफाइनरी परियोजना में भागीदार होगी। यह दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनरी होगी जिसका निर्माण एक बार में किया जाएगा। 

 

 

हम भारत के साथ बेहतर और मजबूत संबंध चाहते हैं

अल-जुबेर ने कहा, 'हम भारत की भागीदारी के साथ 44 अरब डॉलर की लागत सबसे बड़ा रिफाइनरी परिसर बना रहे हैं।' उन्होंने कहा, 'हम भारत को एक बढ़ती आर्थिक शक्ति और एक स्थिर व अवसरों वाले देश के रूप में देख रहे हैं। इसीलिए हम भारत के साथ बेहतर और मजबूत संबंध चाहते हैं।'

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन