Home » Market » Commodity » EnergyAccounting and tax preparation business is most profitable

इन 8 बिजनेस में होती है सबसे ज्यादा कमाई, आप भी कमा सकते हैं पैसा

दुनिया में ऐसे कई बिजनेस हैं, जिन्‍हें कम लागत से शुरू करके अधिक प्रॉफिट कमाया जा सकता है। अमेरिकी बिजनेस मैगजीन फोर्ब्स ने ऐसे ही बिजनेस की ग्‍लोबल लिस्‍ट जारी की है।

1 of
 
नई दिल्ली. दुनिया में ऐसे कई बिजनेस हैं, जिन्‍हें कम लागत से शुरू करके अधिक प्रॉफिट कमाया जा सकता है। अमेरिकी बिजनेस मैगजीन फोर्ब्स ने ऐसे ही बिजनेस की ग्‍लोबल लिस्‍ट जारी की है। ऐसे बिजनेस के जरिए इन कंपनियों ने कम लागत में अधिक प्रॉफिट कमाया। आप भी ऐसे बिजनेस के जरिए पैसा कमा सकते हैं। मनीभास्‍कर आपको बता रहा है इस लिस्‍ट में शामिल ऐसे ही 8 बिजनेस के बारे में...
 
अकाउंटिंग सर्विसटैक्स प्रिपरेशनबुककीपिंग एंड पेरोल सर्विसेज
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 19.8 फीसदी
 
दुनिया के सबसे ज्यादा मुनाफे वाले कारोबार की लिस्ट में पहला स्थान अकाउंटिंग सर्विस, टैक्स प्रिपरेशन, बुककीपिंग एंड पेरोल सर्विसेज का आता है। अकाउंटिंग सर्विस की लगातार बढ़ रही मांग और कम लागत के कारण यह सर्विस लिस्ट में टॉप पर है। पिछले साल इस इंडस्ट्री का नेट प्रॉफिट मार्जिन 16.3 फीसदी था, जो कि इस साल बढ़कर 19.8 फीसदी पहुंच गया है।
 
आगे की स्लाइड में जानिए अन्य प्रोफिटेबल बिजनेस के बारे में...
 
फोटो का इस्तेमाल केवल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।
 
 
लीगल सर्विसेज
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 17.8 फीसदी
 
लीगल सर्विसेज का बिजनेस पिछले साल 18.3 फीसदी नेट प्रॉफिट मार्जिन के साथ फोर्ब्‍स की लिस्ट में टॉप पर था। लेकिन, इस साल इंडस्ट्री का मार्जिन घटकर 17.8 फीसदी रह गया है। नेट प्रॉफिट मार्जिन में गिरावट के बावजूद कम लागत की वजह से इस साल लिस्‍ट में यह बिजनेस दूसरे नंबर पर है। इस सेक्टर में सैलरी के अलावा किसी बड़े निवेश की जरूरत नहीं है।
 
 
 
ऑयल एंड गैस एक्सट्रैक्शन
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 16.4 फीसदी
 
इस लिस्ट में ऑयल एंड गैस एक्सट्रैक्शन सेक्टर ने पिछले साल की तरह ही अपना तीसरा स्थान बरकरार रखा है। दरअसल, अमेरिका में ऑयल और शेल गैस का उत्पादन लगातार बढ़ रहा है, जबकि एनर्जी इंपोर्ट गिरा है। इस सेक्टर का नेट प्रॉफिट मार्जिन 15.1 फीसदी से बढ़कर 16.4 फीसदी पहुंच गया है।
 
 
 
कमर्शियल एंड इंडस्ट्रियल मशीनरी रेंटल
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 16.4 फीसदी
 
मशीनरी एंड इक्विपमेंट रेंटल इंडस्ट्री मुनाफे के मामले में लिस्‍ट में चौथे पायदान पर है। मशीनरी एंड इक्विपमेंट रेंटल इंडस्ट्री का नेट प्रॉफिट मार्जिन भी 13.4 फीसदी से बढ़कर 16.4 फीसदी पहुंच गया है। अमेरिका में हाउसिंग सेक्‍टर की डिमांड बढ़ने इस सेक्‍टर में तेजी आई है।
 
 
 
डॉक्टर और मेडिकल सेवाएं
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 14.9 फीसदी
 
विकसित देशों खासकर अमेरिका में हर व्‍यक्ति को साल में औसतन दो बार डेंटिस्‍ट के पास जाना पड़ता है। इसकी वजह से फोर्ब्‍स की लिस्ट में डेंटिस्‍ट प्रोफेशन पांचवे नंबर पर है। पिछले साल इस इंडस्ट्री का नेट प्रॉफिट मार्जिन 12.7 था, जो कि इस साल बढ़कर 14.9 फीसदी पहुंच गया है। इसके अलावा, जनरल फिजिशियन्स का नेट प्रॉफिट मार्जिन 14.1 फीसदी है। जबकि पिछले साल मार्जिन 12.2 फीसदी था।
 
 
 
रियल एस्टेट सेक्टर
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 14.1 फीसदी
 
10.4 फीसदी की ग्रोथ दर रेट के साथ किराए पर मकान देने वाली कंपनियां इस लिस्ट से बाहर हो गई थी। लेकिन, इस साल इसमें जोरदार उछाल आया है और नेट प्रॉफिट मार्जिन 14.1 फीसदी पहुंच गया है। विकसित देशों खासकर अमेरिका में खाली घरों की संख्या घटी है। इसके कारण मकान मालिकों ने किराया बढ़ा दिया है। इसके अलावा रियल एस्टेट एजेंट्स एंड ब्रोकिंग सेक्टर का प्रॉफिट मार्जिन 11.6 फीसदी से बढ़कर 14.1 फीसदी पहुंच गया है।
 
 
 
कंपनी मैनेजमेंट
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 12.6 फीसदी
 
दुनिया की टॉप मुनाफे वाली इंडस्ट्री की लिस्ट में कंपनी मैनेजमेंट पहली बार शामिल हुआ है। निजी क्षेत्र की मैनेजमेंट कंपनियों का नेट प्रॉफिट मार्जिन बढ़कर 12.6 फीसदी पहुंच गया है। एक्‍सपर्ट्स के मुताबिक इस क्षेत्र में कॉस्ट कटिंग देखने को मिली है। इसके अलावा बेचे गए माल की लागत भी घटी है।
 
 
 
स्कूल और इंस्टिट्यूट
नेट प्रॉफिट मार्जिन: 11.3 फीसदी
 
शिक्षा के क्षेत्र में मार्जिन अन्य सेक्टर से कहीं ज्यादा है। इस सेक्टर में फाइन आर्ट्स स्कूल, स्पोर्ट्स इंस्ट्रक्शन,लैंग्वेज स्कूल, एग्जाम प्रिपरेशन, ऑटोमोबाइल ड्राइविंग और अन्य स्पेशलाइज्ड स्कूल के साथ ही कॉलेज,यूनिवर्सिटीज और प्रोफेशनल स्कूल भी शामिल है। लागत में कमी से नेट प्रॉफिट मार्जिन बढ़ा है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss