विज्ञापन
Home » Market » Commodity » AgriIMD working at faster pace to issue block-level weather forecast by next yr

IMD / मौसम विभाग का बड़ा प्लान, अगले साल से ब्लॉक लेवल पर जारी होगा अनुमान

देश भर के 9.5 करोड़ किसानों को होगा फायदा, खेती होगी आसान

IMD working at faster pace to issue block-level weather forecast by next yr
  • 2020 से ब्लॉक लेवल पर जारी होगा मौसम अनुमान
  • देश के लगभग 9.5 करोड़ किसानों को होगा फायदा


नई दिल्ली. भारतीय मौसम विभाग यानी IMD (India Meteorological Department) देश के 660 जिलों में ब्लॉक लेवल पर मौसम अनुमान (weather forecasting) जारी करने की योजना पर तेजी से काम कर रहा है। आईएमडी (IMD) 2020 से इसकी शुरुआत कर सकता है। इससे देश के लगभग 9.5 करोड़ किसानों को मौसम (weather) की अनियमितता से पार पाने में मदद मिलेगी।

 

मौसम परामर्श सेवाओं को फायदेमंद बनाना बड़ी चुनौती

आईएमडी (IMD) ने कहा कि उसके सामने सबसे बड़े चुनौती मौसम अनुमान (weather forecasts) में सटीकता बढ़ाना और कृषि मौसम परामर्श सेवाओं (agromet advisory services) यानी AAS को ज्यादा उपयोगी व फायदेमंद एक चुनौतीपूर्ण कार्य होगा।

 

ICAR ने की थी सिफारिश

वर्तमान में आईएमडी (IMD) जिला स्तर पर परामर्श जारी करता है। वर्ष 2018 में इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चर रिसर्च (ICAR) ने मौसम अनुमान (weather forecast ) और एएएस के ब्लॉक स्तर तक विस्तार की सिफारिश की थी।
आईएमडी के डिप्टी डायरेक्टर जनरल एस डी अत्री ने फिक्की के एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘आईसीएआर (ICAR) के साथ एमओयू के बाद से इस दिशा में खासा काम हो चुका है। काम तेजी से जारी है। हम नियुक्तियां और लोगों को प्रशिक्षण दे रहे हैं।’

 

200 ब्लॉक में चल रही है पायलट स्टडी

200 ब्लॉक्स में पायलट स्टडी जारी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 तक 660 जिलों के 6500 ब्लॉक्स को कवर करने का लक्ष्य है। इससे किसानों के लिए मौसम (weather) संबंधित नुकसान को कम करने में मदद मिलेगी।
अत्री ने कहा कि आईएमडी (IMD) के पास मौसम आधारित परामर्श जारी करने के लिए जिला स्तर पर 130 एग्रोमेट फील्ड यूनिट्स का नेटवर्क है। अब कृषि विज्ञान केंद्रों में ‘ग्रामीण कृषि मौसम सेवा’ के अंतर्गत अतिरिक्त 530 जिलों में ऐसी यूनिट्स तैयार की जा रही हैं।

 

फिलहाल 4 करोड़ किसानों को मिल रही हैं सेवाएं

अभी तक जिला स्तर पर 4 करोड़ किसानों को एसएमएस और एमकिसान पोर्टल्स (mKisan portals) के माध्यम से मौसम अनुमान (weather forecast) मिल रहा है। उन्होंने कहा, ‘ब्लॉक स्तर पर 2020 तक इन सेवाओं के विस्तार से 9.5 करोड़ किसानों को कवर करने का लक्ष्य है।’

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन