विज्ञापन
Home » Market » Commodity » AgriApple production likely to decline in Himachal

महंगा हो सकता है सेब, हिमाचल में उत्‍पादन घटने का अनुमान

कम बारि‍श और कम बर्फबारी की वजह से हि‍माचल में सेब का उत्‍पादन काफी कम होने की संभावना है।

Apple production likely to decline in Himachal
कम बारि‍श और कम बर्फबारी की वजह से हि‍माचल में सेब का उत्‍पादन काफी कम होने की संभावना है। शि‍मला के डिप्‍टी कमि‍शनर अमित कश्‍यप ने बताया कि इस बार तकरीबन 98 लाख बॉक्‍स सेब का उत्‍पादन हो सकता है। 15 जुलाई से शुरू होने वाली सेब की मार्केटिंग व्यवस्था से जुड़ी एक बैठक में कश्यप ने यह जानकारी दी।

शि‍मला। कम बारि‍श और कम बर्फबारी की वजह से हि‍माचल में सेब का उत्‍पादन काफी कम होने की संभावना है। शि‍मला के डिप्‍टी कमि‍शनर अमित कश्‍यप ने बताया कि इस बार तकरीबन 98 लाख बॉक्‍स सेब का उत्‍पादन हो सकता है। 15 जुलाई से शुरू होने वाली सेब की मार्केटिंग व्यवस्था से जुड़ी एक बैठक में कश्यप ने यह जानकारी दी। 


एसडीएम तय करेंगे भाड़ा
उन्‍होंने कहा कि सेब उत्‍पादकों और ट्रांसपोर्ट यूनि‍यन की बातचीत के बाद सेबों की ढुलाई का भाड़ा एसडीएम तय करेंगे और सभी एसडीएम 10 दि‍नों के भीतर अपनी रि‍पोर्ट जमा करा दें। 
कश्‍यप ने बताया कि 15 जुलाई से 31 अक्‍टूबर तक के लि‍ए फागू में एक सेंट्रल कंट्रोल रूम बनाया जाएगा। इसके अलावा नारकंद, खारपत्थर, बालाग, कुड्डा और रामपुर के पास नैना में ट्रकों के सुचारू परिचालन के लिए सब कंट्रोल रूम बनाए जाएंगे। सेबों की ढुलाई के काम में लगे ट्रकों के ड्राइवरों और क्‍लीनर को पहचान पत्र दि‍ए जाएंगे। 


ड्राइवरों और क्‍लीनर को मि‍लेगा पहचान पत्र 
ट्रकों के ड्राइवरों से 150 रुपए और पि‍कअप के ड्राइवरों से 100 रुपए लिए जाएंगे। सेब के उत्‍पादन में जम्‍मू-कश्‍मीर के बाद हिमाचल का नंबर आता है। राष्‍ट्रीय बागवानी बोर्ड द्वारा जारी 2017-18 दूसरे अग्रि‍म अनुमान के मुताबि‍क, सेब का कुल प्रोडक्‍शन 2285 मि‍लि‍यन टन रहने का अनुमान है। वर्ष 2016-17 में यह 2265 मि‍लि‍यन टन था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन