बिज़नेस न्यूज़ » Insurance » Travel Insuranceट्रैवल इंश्‍योरेंस क्‍लेम लेने के लिए हॉस्पिटल में सबमिट करनी होगी पॉलिसी

ट्रैवल इंश्‍योरेंस क्‍लेम लेने के लिए हॉस्पिटल में सबमिट करनी होगी पॉलिसी

Travel insurance क्‍लेम करने पर आपको रिम्‍बर्शमेंट या कैशलेस क्‍लेम मिलता है

How can claim travel insurance

नई दिल्‍ली. अगर आपने ट्रैवल  इंश्‍योरेंस कराया है और आप क्‍लेम करना चाहते हैं तो आप कैशलेस या रिम्‍बर्समेंट क्‍लेम ही ले सकते हैं। कैशलेस फॉर्म में पॉलिसी होल्‍डर को अपनी ट्रेवल इंश्‍योरेंस पॉलिसी अस्‍पताल में सबमिट करनी होती है और उसे आगे के प्रोसेस के लिए इंश्‍योरेंस कंपनी को सूचना देनी होती है। इसके आगे, बीमा कंपनी डायरेक्‍ट बिल को अस्‍पताल में सेटल करती है । जबकि रिम्‍बर्समेंट के लिए पॉलिसी धारक को सभी बिल और रसीदें बीमा कंपनी के पास स‍बमिट करने होते हैं, जिसके बाद बीमा कंपनी अपने स्‍तर पर क्‍लेम की जांच करके सीधे पॉलिसी धारक के बैंक खाते में सेटल कर देती है।  

 

बैंकबाजारडॉटकॉम  के मुताबिक यदि आपके पास ट्रैवेल इंश्‍योरेंस है और आप कलेम करना चाहते हैं तो आपके पास ये डॉक्‍यूमेंट होने चाहिए - 

 

- पॉलिसी धारक का नाम 
- कॉन्‍टेक्‍ट डिटेल, जैसे फोन नंबर और ईमेल आईडी 
- पॉलिसीहोल्‍डर की नागरिकता 
- उस देश का नाम, जहां घटना घटी 
- घटना या चोरी का ब्‍यौरा 
- मेडिकल इमरजेंसी  के केस में डायग्‍नॉस रिपोर्ट 
- ट्रैवेल इंश्‍योरेंस पॉलिसी नंबर 
- एक्‍सीडेंट होने पर एक्‍सीडेंट की तारीख व समय 

- ट्रैवेल इंश्‍योरेंस खरीदना कोई अतिरिक्‍त खर्च नहीं है, लेकिन यह एक सेफ्टी नेट है और यह आपको किसी भी दुर्भाग्‍यपूर्ण घटना से बचाता है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=