Home » Insurance » Motor InsuranceWhy Need Car Insurance do not compensation for lakhs , Car Insurance, Car Insurance benefits

5 प्‍वाइंट में जानें क्‍यों जरूरी है कार इन्‍श्‍योरेंस

आज हम बता रहे हैं कि‍ क्‍यों जरूरी है कार इंश्‍योरेंस लेना।

1 of
नई दि‍ल्‍ली. लोग अपना इन्‍श्‍योरेंस  तो करा लेते हैं लेकि‍न जब बात कार का इन्‍श्‍योरेंस  कराने की आती है तो लोग इसे एक बोझ समझते हैं। हालांकि यह आपकी लाइफ को आरामदायक बनाने के लि‍ए एक छोटा सा खर्च होता है। ऐसे में बहुत जरूरी है कि‍ आप अपनी कार की सुरक्षा के लि‍ए कुछ प्‍लान करें। वहीं, यह जि‍म्‍मेदारी तब और बढ़ जाती है जब आपने कार लोन पर ली है। यह आपको एक्‍सीडेंट और चोरी जैसी घटनाओं से होने वाली परेशानी से बचाता  है। इसके अलावा थर्ड पार्टी इन्‍श्‍योरेंस के जरि‍ए अगर आपकी गाड़ी से दुर्घटना में कोई घायल हो गया है तो आपको मुआवजा भी नहीं देना होगा। इसे भी इंश्‍योरेंस कंपनी ही वहन करेगी। ऐसे में आज हम बता रहे हैं कि‍ क्‍यों जरूरी है कार इंश्‍योरेंस लेना। 

 

1. कानून के तहत जरूरी है कार इन्‍श्‍योरेंस 

 
मोटर व्‍हीकल एक्‍ट ऑफ इंडि‍या के तहत सभी गाड़ि‍यों का इंश्‍योरेंस कराना जरूरी है। यह गाड़ी के पेपर्स में एक जरूरी पेपर के तौर पर गि‍ना जाता है। इसके तहत कम से कम थर्ड पार्टी कवर होना जरूरी है। थर्ड पार्टी का मतलब है कि‍ अगर आप कार में सफर कर रहे हैं और इस दौरान दुर्घटना में कि‍सी तरह का जान-माल का नुकसान होता है तो थर्ड पार्टी इंश्‍योरेंस उस नुकसान को भी कवर करता है। 
 
आगे पढ़ें : कम प्रीमि‍यम में कवर होगा बड़ा नुकसान 
 
2. आज कम दीजि‍ए, कल ज्‍यादा बचेगा 
हाल के अनुमानों के मुताबिक, दुनिया में हर छठा कार एक्‍सीडेंट भारत में होता है। ऐसे में कि‍सी दुर्घटना के बाद कार की मरम्मत कराने पर आपको भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है। ऐसे में आप कार इंश्‍योरेंस करा कर कि‍सी अनहोनी के समय तनाव मुक्‍त रह सकते हैं, क्‍योंकि‍ इंश्‍योरेंस में आपको बहुत कम प्रीमि‍यम देना होगा और यह आपको कि‍सी अनहोनी के समय बड़े खर्च से बचा लेगा।  
 
 
आगे पढ़ें : क्‍यों जरूरी है थर्ड पार्टी कवर 
 
3. थर्ड पार्टी मोटर बीमा कवर क्‍यों है जरूरी 
 
आप कार खरीदते हैं तो थर्ड पार्टी मोटर बीमा कवर आपके लिए जरूरी है। इसे लायबिलिटी कवर भी कहते हैं। नियम के मुताबिक आपको बिना थर्ड पार्टी इन्‍श्‍योरेंस कवर के कार नहीं चलानी चाहिए। अगर आपकी कार या बाइक से एक्‍सीडेंट हो जाता है और दूसरी गाड़ी का चालक या उस पर बैठे लोग घायल हो जाते हैं या उनकी मौत हो जाती है तो थर्ड पार्टी कवर आपको लायबलिटी अगेंस्‍ट कवर देता है। यानी पीड़ित व्‍यक्ति को जो भी मुआवजा देना होगा, वह बीमा कंपनी देगी। लेकिन अगर आपकी कार या बाइक का थर्ड पार्टी बीमा कवर नहीं है तो यह मुआवजा आपको देना होगा। यह मुआवजा लाखों रुपए में हो सकता है। ऐसे में थर्ड पार्टी मोटर बीमा कवर न लेना आपको बहुत महंगा पड़ सकता है। 

 

 

आगे पढ़ें : समय की होती है बचत 

4. हादसे के बाद समय बचाता है इंश्‍योरेंस 
 
हादसे अपने आप में तनावपूर्ण घटना होती है। ऐसे में हादसे के बाद क्‍या करना है अगर कार में कुछ नुकसान हुआ है तो कहां जाना है और कैसे उसे ठीक कराना है, उस समय येे सब बातें दि‍माग में एक साथ चलती रहती हैं। ऐसे में इंश्‍योरेंस आपके बड़े काम आता है। क्‍योंकि‍ ऐसे तनावपूर्ण समय में आपका इंश्‍योरर आपकी मदद करता है। वह आपको बताता है कि‍ आसपास अच्‍छा गैराज कहां है और आपको क्‍लेम के लि‍ए क्‍या-क्‍या करना है। ऐसे में यह सभी चीजें आपके काम आएंगी। 
 
आगे पढ़ें : हेल्‍थ कवर भी होता है ऐड ऑन 
5. हेल्‍थ इंश्‍योरेंस भी होता है शामि‍ल 
 
अधिकांश कार बीमा पॉलिसीज दुर्घटना में आपको और आपके साथी यात्रियों को भी कवर करती हैं। अगर आपकी पॉलि‍सी में यह नहीं जुड़ा है तो आप इसे ऐड ऑन सुवि‍धा के जरि‍ए ले सकते हैं। यह आपके हेल्‍थ इंश्‍योरेंस के साथ एक पूरक के रूप में काम करता है। यह आपको ऐसे कवर देता है जो हेल्‍थ इंश्‍योरेंस में आपको नहीं मि‍लते। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=