Home » Insurance » Motor InsuranceInsurance is also available on a Damage car in a storm

आंधी-तूफान में डैमेज कार पर भी मि‍लता है इंश्‍योरेंस, ऐसे लें क्‍लेम

देश में लगभग 15 दि‍न से आंधी तूफान का दौर चल रहा है।

1 of
 
नई दिल्‍ली. देश में लगभग 15 दि‍न से आंधी तूफान का दौर चल रहा है। सभी राज्‍यों में तेज आंधी और बारि‍श से नुकसान की आशंका के चलते मौसम वि‍‍‍‍‍‍भाग लगातार अलर्ट जारी कर रहा है। ऐसे में कई बार खबरें आ चुकी हैं कि‍ कार पर पेड़ या होर्डि‍ंग गि‍रा। ऐसे में अगर आपकी कार भी आंधी-तूफान के चलते क्षति‍ग्रस्‍त हो जाए या हो चुकी है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्‍योंकि‍ आप आराम से अपनी इंश्‍योरेंस कंपनी से इसके ऐवज में क्‍लेम ले सकते हैं। 

 
क्‍या होता है कार इंश्‍योरेंस 
 
कार इंश्‍योरेंस लेने वाला व्‍यक्‍ति‍ किसी भी दुर्घटना या फिर अन्‍य किसी वजह से कार में होने वाले नुकसान पर इंश्‍योरेंस क्‍लेम ले सकता है। यह एक प्रोसेस के आधार पर होता है। आपने जैसा भी इंश्‍योरेंस लि‍या होगा उसी हि‍साब से नुकसान की भरपाई होगी। क्‍योंकि‍ मार्केट में अलग-अलग कंपनि‍यां हैं जो अलग-अलग इंश्‍योरेंस प्‍लान मुहैया कराती हैं। 
 
कार बीमा में कवर होता है ये सब 
 
1. नेचुरल डिजास्‍टर के कारण क्षति या बर्बादी : आपके नियंत्रण के बाहर की एक्‍सीडेंट जैसे- बिजली कड़कना, भूकंप, बाढ़, तूफान, चक्रवात, आंधी, भू-स्खलन इत्यादि। 
2. मानव निर्मित डिजास्‍टर के कारण क्षति या बर्बादी : मानव निर्मित डिजास्‍टर जैसे- डकैती, चोरी, दंगा, हड़ताल, आतंकवादी गतिविधि, तथा सड़क, रेल या जल परिवहन के समय कोई क्षति
आगे पढ़ें : टूटा है शीशा तो अलग हैं नि‍यम  
शीशा टूटा है तो कई जगह हैं अलग नि‍यम 
 
कई कंपनि‍यों के कार क्‍लेम में कुछ अलग नि‍यम भी होते हैं। जैसे अगर कल की आंधी में आपकी कार का शीशा टूटा है तो ज्‍यादा परेशानी की बात नहीं है क्‍योंकि‍ इंश्‍योरेंस कंपनी से इसका क्‍लेम मि‍ल जाएगा। लेकि‍न यह भी हो सकता है कि‍ कुछ पैसा आपको देना पड़े। जैसे कुछ कंपनि‍यां ग्‍लास क्‍लेम पर 80 : 20 का रेश्‍यो रखती हैं। मतलब कि‍ कुल खर्चे में से 20 फीसदी आपको देना होगा और बाकी का इंश्‍योरेंस कंपनी देगी। 
आगे पढ़ें : बॉडी डैमेज पर न हों परेशान 
कार की बॉडी डैमेज पर भी मि‍लेगा क्‍लेम 
 
अगर आंधी-तूफान में आपकी कार की बॉडी डैमेज हो गई है तो भी परेशान होने की जरूरत नहीं है। इसका क्‍लेम भी मि‍ल जाएगा। इसके लि‍ए जब आप कंपनी को जानकारी देंगे तो एक सर्वेयर आकर कार की डि‍टेल लेगा। इसके बाद आपकी गाड़ी सर्वि‍स सेंटर में जाएगी और पहले जैसी हो जाएगी। इसका पूरा बि‍ल आपकी इंश्‍योरेंस कंपनी उठाएगी। 
आगे पढ़ें : ध्‍यान रखेें नए नि‍यम 
नेचुरल डिजास्‍टर पर कुछ अलग भी है नि‍यम 
 
भारती एक्‍सा लाइफ इंश्‍योरेंस के फाइनेंशि‍यल कंसल्‍टेंट सुनील मि‍श्रा ने बताया कि‍ 2013 के बाद कई जगह नि‍यम है कि‍ अगर कोई बड़े लेवल पर डि‍जास्‍टर होता है। जैसे कि‍ भूकंप और बाढ़ आदि‍ तो कंपनी बीमा धारकों को तुरंत राहत देने का काम करती है। पहले कंपनि‍यां इंतजार करती थीं कि‍ नेशनल डि‍जास्‍टर वाले मामले में सरकार की ओर से लोगों को मुआवजा मि‍ल जाए। वहीं, कंपनि‍यां एक्‍ट ऑफ गॉड की बात बोलकर बच जाती थीं। जबकि‍ अब ऐसा नहीं है। अब सरकार की ओर से कहा जाता है कि‍ इंश्‍योरेंस कंपनी तुरंत लोगों को क्‍लेम का भुगतान करे। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=