बिज़नेस न्यूज़ » Insurance » Motor Insuranceएकमुश्‍त 2 साल के लि‍ए कराएं बाइक इंश्‍योरेंस, पैसे की होगी बचत

एकमुश्‍त 2 साल के लि‍ए कराएं बाइक इंश्‍योरेंस, पैसे की होगी बचत

मोटर इंश्‍यारेंस यानी अपनी कार या बाइक का इंश्योरेंस लेने के बारे में सोच रहे हैं तो कुछ बुनि‍यादी बातें पता होनी चाहि‍ए

1 of
नई दि‍ल्‍ली. अगर आप मोटर इंश्‍यारेंस यानी अपनी कार या बाइक का इंश्योरेंस लेने के बारे में सोच रहे हैं तो आपको कुछ बुनि‍यादी बातें हमेशा पता होनी चाहि‍ए। क्‍योंकि‍ ज्यादातर लोग ये सोच कर पॉलिसी ले लेते हैं कि कानून है तो ले लो पॉलि‍सी। यही कारण है कि‍ जब क्‍लेम लेने का समय आता है तो अक्‍सर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। क्‍योंकि‍ बहुत कम लोग होते हैं जो कोई भी मोटर पॉलिसी लेने से पहले उसके फीचर्स, नियम और शर्तों पर ध्‍यान देते हैं। यही बात पॉलि‍सी के रि‍न्‍युअल पर भी लागू होती है। वहीं, अगर आपको बाइक का इंश्‍योरेंस कराना है तो अब आप 2 साल के लि‍ए भी इंश्‍याेेरेंस एक ही बार में करा सकते हैं। हालांकि‍ कार का इंश्‍योरेंस आपको हर साल ही रि‍न्‍यू कराना होगा। तो आइए हम बताते हैं कि‍ 2 साल का इंश्‍योरेंस एक साथ लेंगे तो आपको क्‍या फाया होगा। 

 
नहीं होगा याद रखने का झंझट और समय भी बचेगा 
 
अगर आपने अपनी कार या बाइक का मोटर इंश्‍योरेंस कराया है तो आपको हर साल याद रखना पड़ता होगा कि‍ एक साल हो गया अब इंश्‍योरेंस कराना है। लेकि‍न अब आपको इससे कुछ राहत मि‍ल सकती है। क्‍योंकि‍ अब ज्‍यादातर कंपनि‍यां दो साल का मोटर इंश्‍याेरेंस करती हैं।
 
कंपनी के साथ कस्टमर को भी फायदा
 
ओरिएंटल जनरल इन्श्योरेंस के पूर्व अधिकारी एन.के.सिंह ने बताया कि लगभग सभी प्रमुख कंपनियां टू व्हीलर पर दो साल का एक साथ इन्श्योरेंस कराने का विकल्प दे रही है। ऐसा इसलिए है कि अभी भी 40-50 फीसदी वाहन जो सड़क पर चलते हैं उनका इन्श्योरेंस नहीं होता है। ऐसे में दो साल का ऑप्शन आने से कस्टमर के पैसे की बचत भी होती है, साथ ही इन्श्योरेंस भी दो साल का हो जाता है। जिससे कंपनी के लिए बेहतर हो जाता है।
 
आगे पढ़ें : कैसे बचेंगे पैसे 
पैसे भी बचेंगे 
दो साल का इंश्‍योरेंस लेने का एक फायदा और है। इससे आपके कुछ पैसे भी बचेंगे। फाइनेंंशियल एडवाइजर जनार्दन केसरी के अनुसार अभी जो कंपनियों का पैकेज है, उसके अनुसार अगर आप अपनी बाइक का एक साल का इंश्‍याेरेंस कराते हैंं और प्रीमियम 1500 रुपए का होता है तो दो साल का इंश्‍योरेंस कराने पर यह आपको 2500 रुपए से लेकर 2600 रुपए तक का प्रीमि‍यम देना होगा। ऐसे में आपको 300 रुपए से लेकर 400 रुपए का फायदा हो सकता है।   
 
क्‍यों जरूरी है मोटर इंश्‍योरेंस 
 
कहीं कि‍सी दुर्घटना के चलते बाइक खराब होने या उसमें टूट-फूट होने पर इन्श्योरेंस क्लेम लिया जा सकता है। जिससे सीधे तौर  पर आपको बड़े खर्च से राहत मिल जाती है। जो कि ओन डैमेज्ड (ओडी) कैटेगरी का होता है।
 
 
आगे पढ़ें : तकनीक से होगा डबल फायदा 
तकनीक का फायदा उठाएं
 
तकनीक बढ़ने के साथ-साथ बीमा कंपनियों ने पंजीकरण और दावे के निपटारे के लिए स्मार्टफोन पर एप्लि‍केशन लॉन्च कर दिए हैं। ये एप्लि‍केशन काफी सहूलियत भरे और तेजी से काम करते हैं। ये एप्लि‍केशन तो फोटो और वीडियो के साथ-साथ कुछ सीमित दावों का 20 मिनट्स के अंदर निपटारा कर देते हैं। पता कीजिए कि क्या आपकी कंपनी ऐसी सुविधा दे रही है। क्योंकि अगर ऐसी सुविधा है तो दावा करने की प्रक्रिया और उसका निपटारा काफी आसान हो जाएगा। 
आगे पढ़ें : कार के लि‍ए नहीं है यह सुवि‍धा 
कार के लि‍ए नहीं है यह सुवि‍धा 
 
सभी कंपनि‍यां दो साल का इंश्‍योरेंस कर रही हैं। लेकि‍न यह सुवि‍धा सि‍र्फ दोपहि‍या वाहनचालकों को दी जा रही है। फोर व्‍हीलर्स के लि‍ए अभी ऐसी कोई पॉलि‍सी नहीं शुरू की गई है कि‍ वे भी 2 साल का बीमा एकसाथ करा सकें। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=