बिज़नेस न्यूज़ » Insurance » Life Insuranceबीमा कंपनियों के पास निवेशकों का पड़ा है 15 हजार करोड़ रु, कोई नहीं कर रहा क्‍लेम

बीमा कंपनियों के पास निवेशकों का पड़ा है 15 हजार करोड़ रु, कोई नहीं कर रहा क्‍लेम

इंश्योरेंस नीतियों के नियम बनाने वाली संस्था IRDAI की रिपोर्ट से ये खुलासा हुआ है।

crore amount of policyholders is lying unclaimed with life insurers company

 

नई दिल्ली. देश की 23 इंश्योरेंस कंपनियों के पास इस वक्त करीब 15,167 करोड़ रुपए की ऐसी रकम है, जिस पर किसी ने भी दावा नहीं किया है। इंश्योरेंस नीतियों के नियम बनाने वाली संस्था IRDAI की रिपोर्ट से ये खुलासा हुआ है। इसमें कहा गया है कि 31 मार्च 2018 तक भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के पास सबसे ज्यादा 10,509 करोड़ की ऐसी रकम है, जिस पर कोई भी दावा नहीं कर रहा। वहीं, बाकी बची 22 निजी कंपनियों के पास 4657.45 करोड़ की रकम है।

 

 

निजी कंपनियों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल आगे

निजी बीमा कंपनियों में आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल के पास सबसे ज्यादा करीब 807.4 करोड़ की रकम है, जिस पर दावा नहीं हुआ है। इसके बाद रिलायंस निप्पो लाइफ इंश्योरेंस (696.12 करोड़ रु.), एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस कंपनी (678.59 करोड़ रुपए) और एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी (659.3 करोड़ रुपए) आती हैं।

 

 

इंश्योरेंस रकम पता लगाने में ग्राहकों की मदद करें कंपनियां

आईआरडीएआई ने बीमा कंपनियों से कहा है कि वे अपनी वेबसाइट पर एक सर्चिंग की सुविधा मुहैया कराएं, ताकि पॉलिसी होल्डर्स, लाभार्थी या फिर उनके आश्रित अपनी पॉलिसी नंबर, आधार नंबर, पैन, मोबाइल नंबर और जन्म तिथि देकर पता लगा सकें कि उनकी कितनी राशि कंपनियों के पास है। रेग्युलेटर ने कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे हर 6 महीने में इंश्योरेंस लेने वालों को उनकी अनक्लेम्ड रकम की जानकारी दें।

 
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=