विज्ञापन
Home » Insurance » Life Insuranceyour money can stuck in LIC so plz add bank account with policy

LIC में फंस जाएगा आपका पूरा पैसा, अगर नहीं किया यह काम

अगर LIC से आने वाला है पैसा तो हो जाएं अलर्ट

1 of

नई दिल्ली. अगर आपने एलआईसी (LIC) से पॉलिसी ले रखी है और वह मैच्योर होने वाली है या आपको एलआसी से किसी तरह का पैसा मिलने वाला है, तो अलर्ट हो जाएं। इसकी वजह यह है कि अगर आपने अपना बैंक अकाउंट अपनी बीमा पॉलिसी के साथ नहीं जुड़वाया है तो आपका पूरा का पूरा पैसा फंस सकता है। दरअसल कुछ समय पहले तक एलआईसी पॉलिसी होल्डर्स के घर पर चेक भेजकर पूरा भुगतान कर देती थी, लेकिन अब उसने ऐसा करना बंद कर दिया है।

 

 

एलआईसी पॉलिसी के साथ जुड़वाना होगा बैंक अकाउंट

कुछ समय पहले एलआईसी (LIC) ने पॉलिसीहोल्डर्स को किए जाने वाले किसी भी तरह के पेमेंट को सीधे बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किए जाने को अनिवार्य कर दिया था। हालांकि अभी भी बड़ी संख्या में ऐसी पॉलिसी हैं, जिनसे बैंक अकाउंट जोड़े नहीं गए हैं। इसके चलते एलआईसी में उनके पेमेंट रुकने लगे हैं। ऐसे में अगर आपको एलआईसी से कोई पेमेंट मिलने वाला है या आपकी पॉलिसी मैच्योर होने वाली है तो उसके साथ अकाउंट जरूर जुड़वा लें। अकाउंट जुडवाने का क्या है प्रॉसेस...

 

 

 

अकाउंट जुड़वाने के लिए यह है प्रॉसेस

अपनी एलआईसी (LIC) पॉलिसी के साथ अकाउंट जुड़वाने का प्रॉसेस बेहद सरल है। इसके लिए आपको अपने बैंक अकाउंट का कैंसिल चेक या बैंक पासबुक के फ्रंट पेज की जीरॉक्स कॉपी लेकर नजदीक स्थित एलआईसी (LIC) की ब्रांच में जाना होगा।
जहां पॉलिसी सर्विस डिपार्टमेंट में जाएं और एनईएफटी (NEFT) मैंडेट फॉर्म मांगे। फॉर्म को ठीक से भरें और साथ में कैंसिल चेक या बैंक पासबुक की जीरॉक्स कॉपी अटैच करके जमा कर दें। हालांकि अगर आप पासबुक की कॉपी अटैच कर रहे हैं तो उसे एक क्लास 1 अधिकारी से वेरिफाइड करना होगा।
इस फॉर्म को डिस्पैच डिपार्टमेंट में जमा करें और उसकी एक रिसीट ले लें। आप इसे सीधे पॉलिसी सर्विस डिपार्टमेंट में भी जमा कर सकते हैं। अब एक हफ्ते के भीतर आपका बैंक अकाउंट पॉलिसी से जुड़ जाएगा और अब बेफिक्र हो सकते हैं। इसके बाद एलआईसी से मिलने वाला कोई भी पैसा सीधे आपके अकाउंट में आएगा।

 

 

एलआईसी से नहीं मिला SMS, तो हो जाएं अलर्ट

LIC अगले महीने यानी 1 मार्च से डिजिटल होने जा रही है। इसके बाद जब भी एलआईसी (LIC) के पॉलिसीहोल्डर्स का प्रामियम भरने की तारीख आएगी या प्रीमियम जमा नहीं करने पर पॉलिसी लैप्स होगी या उनका बोनस जुड़ेगा तो उनके पास एलआईसी से एक एसएमएस (SMS) आएगा।
एलआईसी (LIC) इसकी सूचना देने के लिए अपने पॉलिसीहोल्डर्स को SMS भेज रही है, जिसमें कहा जा रहा है, ‘प्रिय कस्टमर, हम आपको सूचित करते हैं कि एलआईसी 1.03.2019 से SMS के माध्यम से ही आपकी पॉलिसी के लिए प्रीमियम चुकाने की तारीख के बारे में सूचना देंगे और रिमाइंडर भेजेंगे।’

 

रजिस्टर या अपडेट कराएं अपना मोबाइल नंबर

अगर आपको यह एसएमएस (SMS) मिला है तो इसका मतलब है कि आपका मोबाइल नंबर बीमा कंपनी के पास रजिस्टर है। हालांकि, अगर आपको एसएमएस नहीं मिला है तो आपको अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड कराना चाहिए या तुरंत अपडेट कराना चाहिए, जिससे आप LIC के द्वारा पॉलिसी के संबंध में किए जाने वाले संवाद से वंचित न रह जाएं।

 

 
एजेंट को कॉल करें या ऑनलाइन भी है सुविधा

अपना मोबाइल नंबर रजिस्टर कराने के लिए आप अपने एजेंट को कॉल कर सकते हैं, जिससे आपने पॉलिसी ली थी और उनसे मोबाइल नंबर रजिस्टर या अपडेट कराने के लिए कह सकते हैं। आप एलआईसी की वेबसाइट पर इस लिंक  www.licindia.in/Customer-Services/Help-Us-To-Serve-You-Better से जाकर या हेल्पलाइन नंबर 022-68276827 पर कॉल करके भी ऐसा कर सकते हैं। LIC के मुताबिक, इसके बाद आपको मोबाइल पर ही उसकी तरफ से ऑटोमेटेड मेसेज मिलेंगे।

 

एलआईसी से मिलेंगे 65 तरह के एसएमएस

इसी प्रकार ड्यू डेट से एक दिन पहले प्रीमियम के बकाया होने का मैसेज मिलेगा और ग्रेस पीरियड खत्म होने से पहले भी ऐसा ही एक मैसेज मिलेगा। गौरतलब है कि एलआईसी अपने पॉलिसीहोल्डर्स को प्रीमियम जमा करने के लिए एक महीने का ग्रेस पीरियड भी देती है।
एलआईसी अपने पॉलिसी होल्डर्स को प्रीमियम पेमेंट के रिमाइंडर, पॉलिसी लैप्स्ड होने, रिवाइव करने या फोरक्लोज करने, पॉलिसी बॉन्ड जारी करने, बोनस या लॉयल्टी जोड़ने, एनईएफटी या एनएसीएच मैंडेट रजिस्टर कराने या रिजेक्ट करने, मैच्योरिटी अमाउंट ड्यू या भुगतान करने और न्यू ईयर ग्रीटिंग मैसेज आदि 65 मैसेज भेजेगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=
विज्ञापन