बिज़नेस न्यूज़ » Insurance » Life InsuranceLIC की सिंगल प्रीमियम पॉलिसी, 90 दिन के बच्‍चे के नाम भी खरीदना संभव

LIC की सिंगल प्रीमियम पॉलिसी, 90 दिन के बच्‍चे के नाम भी खरीदना संभव

LIC की सिंगल प्रीमियम प्‍लान में केवल एक बार ही देना होती है किस्‍त।

1 of

नई दिल्‍ली. लाइफ इंश्‍यारेंस कार्पोरेशन (LIC) की सैकड़ों पॉलिसी हैं, लेकिन इनमें से सही पॉलिसी को चुनना कठिन हो जाता है। क्‍योंकि अगर गलत पॉलिसी का चुनाव कर लिया तो कई वर्ष तक प्रीमियम भरना पड़ता है। ऐसे में यह सिंगल प्रीमियम प्‍लान पॉलिसी सबसे  अच्‍छा  विकल्‍प है। इस पॉलिसी को 90 दिन के बच्‍चे से लेकर 65 साल तक की उम्र के लोग ले सकते हैं। LIC का यह सिंगल प्रीमियम प्‍लान टेबल 817 कहलाता है।

 

 

इस पॉलिसी की खासियत  

-बीमा लेने की न्यूनतम आयु 90 दिन (एक वर्ष से भी कम)

-बीमा लेने की अधिकतम आयु 65 वर्ष

-परिपक्वता के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष

-परिपक्वता के लिए अधिकतम आयु 75 वर्ष

-पॉलिसी अवधि (Policy Term) न्‍यूनतम 10 वर्ष से लेकर अधिकतम 25 वर्ष

-न्यूनतम बीमा राशि 50,000 रुपए

-अधिकतम बीमा राशि की कोई सीमा नहीं

-इस बीमा पालिसी से लोन ले सकते हैं|

-एलआईसी सिंगल प्रीमियम एंडोमेंट प्लान एक सिंगल प्रीमियम प्लान है। इसमें निवेशक को केवल एक बार ही प्रीमियम देना होता है।

 

 

आगे पढ़ें : जानें मैच्‍योरिटी के फायदे

 

 

यह भी पढ़ें : LIC से जानें कमाई का सीक्रेट फॉर्मूला, कर देती है करोड़ों का खेल

 

 

बीमा परिपक्वता लाभ

पॉलिसी मैच्‍योरिटी के समय (बीमाधारक की पॉलिसी अवधि के दौरान मृत्यु नहीं होने पर) पॉलिसी धारक को बीमा राशि के अलावा निहित साधारण प्रत्यावर्ती बोनस (Vested Simple Reversionary Bonus) और अंतिम अतिरिक्त बोनस का लाभ मिलता है। अंतिम अतिरिक्त बोनस या वार्षिक बोनस की घोषणा कंपनी हर वर्ष करती है, परन्तु यह राशि पॉलिसी अवधि की समाप्ति पर ही मिलती है। तब तक यह बोनस पॉलिसी में जुड़ता रहता है।

 

ऐसे समझें बोनस का गणित

मान लिए आपके पास 10 लाख रुपये का बीमा है, और LIC आपकी पालिसी के लिए 40  रुपए (प्रति 1,000 रुपए बीमा) के बोनस की घोषणा करती है। ऐसे में आपको 40,000 रुपए का बोनस मिलेगा। लेकिन यह बोनस राशि आपको हर वर्ष नहीं बलिक पालिसी मेच्योर होने पर मिलेगी। लेकिन यह बोनस आपकी पॉलिसी में जुड़ता जाएगा। हालांकि बोनस गारंटीड नहीं होता है। इसके अलावा यह हर वर्ष कम या ज्‍यादा भी होता रहता है।

 

मृत्यु लाभ

पालिसी अवधि के दौरान  पालिसी धारक की मृत्यु की स्तिथि में बीमा राशि के अलावा निहित साधारण प्रत्यावर्ती बोनस और अंतिम अतिरिक्त बोनस दिया जाता है। मृत्‍यु के समय तक जितने भी reversionary बोनस की घोषणा हो चुकी है, वह सब मिलते हैं।

 

आगे पढ़ें : जानें मैच्‍योरिटी पर देना होता है टैक्‍स

 

 

मैच्‍योरिटी राशि पर देना होता है टैक्स

इस बीमा के मैच्योर होने पर मिलने वाली राशि पर निवेशक को टैक्स देना होता है। बहुत लोग Section 80C के तहत टैक्स बचाने के लिए जीवन बीमा योजना खरीदते हैं। लेकिन नियमों को पूरी तरह से जानना जरूरी है। अगर आपका प्रीमियम बीमा राशि के 10% से ज्यादा है, तो आपको मेच्योरिटी पर मिलने वाली राशि पर भी टैक्स देना होगा। यह Section 10(10D) के तहत है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Ask Your Questions
Any query related to insurance?
Ask us
*
*
*
*
4
+
5
=