Home »Industry »Startups» Sequoia Capital Made Secondary Stake Sale In Indian Companies

सि‍क्‍सुअल कैपि‍टल ने स्‍नैपडील समेत 8 कंपनि‍यों में बेचा हि‍स्‍सा, माइक्रोमैक्‍स से नि‍कली बाहर

सि‍क्‍सुअल कैपि‍टल ने स्‍नैपडील समेत 8 कंपनि‍यों में बेचा हि‍स्‍सा, माइक्रोमैक्‍स से नि‍कली बाहर
 
नई दि‍ल्‍ली। भारत की कई कंपनि‍यों में इन्‍वेस्‍ट करने वाले सि‍क्‍युअल कैपि‍टल ने आठ कंपनि‍यों में मौजूद अपनी सेकंडरी स्‍टेक को 18 करोड़ डॉलर में बेच दि‍या है। सि‍क्‍युअल ने अपने स्‍टेक मैडि‍सन कैपि‍टल को बेचे हैं। मीडि‍या रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, वेंचर फंड सि‍क्‍युअल कैपि‍टल अपनी होल्‍डिंग्‍स को कंसोलि‍डेट करना चाहती है और घरेलू स्‍तर पर अपने इन्‍वेस्‍टमेंट के लि‍ए कैश चाहती है।
 
स्‍नैपडील में बेची हि‍स्‍सेदारी
 
सूत्रों के मुताबि‍क, सि‍क्‍युअल कैपि‍टल ने स्‍नैपडील में अपनी 1.5 फीसदी हि‍स्‍सेदारी को बेच दि‍या है। इसके अलावा, पेमेंट प्‍लैटफॉर्म पि‍न लैब्‍स, हेल्‍थ इंश्‍योरर स्‍टार हेल्‍थ और इंडि‍या शेल्‍टर फाइनेंस कॉरपोरेशन में भी हि‍स्‍सा बेच दि‍या है।
 
इन कंपनि‍यों से नि‍कली बाहर
 
सि‍क्‍युअल कैपि‍टल ने जहां कई कंपनि‍यों में अपना हि‍स्‍सा बेचा है वहीं, कुछ कंपनि‍यों से पुरी तरह से बाहर भी नि‍कल आई है। इसमें हैंडसेट बनाने वाली कंपनी माइक्रोमैक्‍स और लीगल प्रोसेस आउटसोर्सिंग कंपनी यूनाइटेडलेक्‍स शामि‍ल हैं।
 
सि‍क्‍युअल ने माइक्रोमैक्‍स में पहला इन्‍वेस्‍टमेंट 2010 में कि‍या था जब मोबाइल कंपनी मार्केट में उतरने की तैयारी में थी। वहीं, 2011 में सि‍क्‍युअल यूनाइटेडलेक्‍स के बोर्ड में शामि‍ल हुई। वेंचर फंड ने 2015 में स्‍नैपडील में 3 फीसदी हि‍स्‍सा लि‍या था। यह हि‍स्‍सा तब लि‍या था जब स्‍नैपडील ने 40 करोड़ डॉलर की डील में मोबाइल वॉलेट स्‍टॉर्टअप फ्रीचार्ज को खरीदा था।

कई वेंचर फंड नि‍कल रहे हैं बाहर
 
सि‍क्‍युअल के अलावा, सि‍लि‍कॉन वैली फंड्स क्‍लेनि‍यर पर्किंस काउफि‍ल्‍ड एंड बायर्स, कैनन पार्टनर्स एंड ड्रेपर फि‍शर ने भारत ऑपरेशंस को बंद करने का फैसला लेने हुए पूरा पोर्टफोलि‍यो बेच दि‍या है।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY