Home » Industry » StartupsEvery day 240 min makes rich people different from common men

दि‍न के 240 मि‍नट अमीरों को कर देते हैं आम लोगों से अलग, स्‍टडी में हुआ खुलासा

सेल्‍फ मेड मि‍लि‍नयर और रि‍च हैबि‍ट स्‍टडी के लेखक थॉमस. सी. कोरले ने अपनी कि‍ताब में इस बात का खुलासा कि‍या है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। यह सब जानते हैं कि‍ एक दि‍न में 1,440 मि‍नट होते हैं और सबको अपना आप करने के लि‍ए एक समान वक्‍त मि‍लता है। ज्‍यादातर लोग, अमीर या गरीब करीब 1,200 मि‍नट अपने काम, बातचीत, परि‍वार संबंधि‍त, सोने, खाने, नहाने, बाथरूम, तैयार होंने आदि‍ गति‍वि‍धि‍यों को देते हैं। ऐसे में हर दि‍न 240 मि‍नट बच जाते हैं और यही 240 मि‍नट अमीरों को दूसरे लोगों से अलग कर देते हैं। 

 

सेल्‍फ मेड मि‍लि‍नयर और रि‍च हैबि‍ट स्‍टडी के लेखक थॉमस. सी. कोरले ने अपनी कि‍ताब में इस बात का खुलासा कि‍या है कि‍ हर दि‍न 240 दि‍न जो काम अमीर करते हैं वो उन्‍हें आम लोगों से अलग कर देते हैं। थॉमस सी. कोरले ने तीन साल के दौरान 233 अमीरों और 128 गरीब लोगों का इंटरव्‍यू कि‍या है।  

 

80 फीसदी से ज्‍यादा लोग हर दि‍न 60 मि‍नट करते ड्रीम सेटिंग

 

ड्रीम सेटिंग में सपनों के लक्ष्‍य और इसके पीछे के मकसद शामि‍ल होते हैं। आमतौर पर यह ऐसी चीज होती है जो आपके काम से अलग होती है। जैसे कि‍ कुछ अलग काम करना या एक या एक से ज्‍यादा तरीकों से इनकम बनाने पर समय लगाना। 

 

करीब 80 फीसदी लोग 60 मि‍नट एजुकेशन या प्रैक्‍टि‍स करते हैं

 

हर दि‍न, सेल्‍फ मेड रि‍च नि‍यमि‍त रूप से अपनी स्‍कि‍ल और  स्‍कि‍ल से जुड़ी जानकारी को बढ़ाने के लि‍ए समय देते हैं। यह आदत उनकी स्‍कि‍ल्‍स और जानकारी को सुधारने और बरकरार रखने में मदद देती है। 

 

आगे पढ़ें...

30 मि‍नट तक एरोबि‍क एक्‍सरसाइज

 

एरोबि‍क एक्‍सरसाइल के कई फायदे हैं। एरोबि‍क एक्‍सरसाइज ऑक्‍सीजन के साथ रक्‍तप्रवाह को ठीक रखता है। यह ऑक्‍सीजन आपके दि‍माग में सीधे तौर पर जाता है। वैसे भी दि‍माग हमारे 20 फीसदी ऑक्‍सीजन रि‍जर्व को यूज करता है, वहीं बढ़ने वाला ऑक्‍सीजन का फ्लो दि‍माग के भीतर ज्‍यादा स्‍वच्‍छ भाव पैदा करता है। साथ ही, दि‍माग के सेल को साफ और स्‍वस्‍थ बनाता है। 

 

आगे पढ़ें...

बेहतर रि‍लेशनशि‍प बनाना

 

करीब 90 फीसदी अमीर हर दि‍न 30 मि‍नट बेहतर रि‍लेशनशि‍प बनाने पर देते हैं। स्‍टडी के मुताबि‍क, हर दि‍न पावरफुल रि‍लेशनशि‍प को बढ़ाने और बरकरार रखने के लि‍ए लोग चुनिंदा चीजें करते हैं। 

 

नेटवर्किंग: ट्रेड एसोसि‍एशन या नॉन प्रॉफि‍ट बि‍जनेस ऑर्गेनाइजेशन को चलाना या उसमें भागीदारी लेना।


हेलो कॉल्‍स: अहम रि‍लेशनशि‍प को कॉल कर, केवल हेलो बोलना।


हैप्‍पी बर्थडे कॉल: बर्थडे पर कॉल करना।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट