Home » Industry » Startupswarren buffett first investment in india

जिसके इशारे पर दुनिया में लगते हैं हजारों करोड़ के दांव, उसने भारत में पहली बार लगाया पैसा

वारेन बफे ने भारत के लिए बदली स्ट्रैटजी, Paytm में लगाए 2500 करोड़ रु

1 of

नई दिल्ली. वारेन बफे को दुनिया का सबसे बड़ा इन्वेस्टर माना जाता रहा है। दुनिया के अमीरों की हमेशा ही उन पर नजर रहती है और बफे के एक इशारे पर हजारों करोड़ रुपए के दांव लग जाते हैं। दरअसल उन्होंने अपने निवेश पर भारी भरकम रिटर्न हासिल करके यह भरोसा हासिल किया है। अब उनकी कंपनी बर्कशायर हैथवे ने भारतीय डिजिटल पेमेंट कंपनी Paytm में निवेश किया है, जो भारत में उनका पहला निवेश भी है। इसकी खास बात यह है कि इस निवेश से उनकी निवेश की स्ट्रैटजी में बदलाव के संकेत मिले हैं। 

 

 

बर्कशायर हैथवे ने भारत के लिए बदली स्ट्रैटजी
दुनिया के सबसे बड़े इन्वेस्टर कहे जाने वाली वारेन बफे की कंपनी बर्कशायर हैथवे ने Paytm की पैरेंट कंपनी में 2500 करोड़ रुपए (35.60 करोड़ डॉलर) में हिस्सेदारी खरीदी है। सूत्रों के मुताबिक, किसी भारतीय कंपनी में वारेन बफे का यह पहला इन्वेस्टमेंट है। इसकी शुरुआत भारत के फाइनेंशियल पेमेंट सेक्टर के साथ हुई है। 
वारेन बफे की कंपनी का यह निवेश इसलिए भी अहम है, क्योंकि उन्हें इसके लिए अपनी स्ट्रैटजी में बदलाव करना पड़ा है। अभी तक बर्कशायर हैथवे कंज्यूमर, एनर्जी और इन्श्योरेंस सेक्टर में निवेश करती रही है। 

 

 

बफे को हो रहा है अरबों का मुनाफा
वारेन बफे ने वैसे तो कई कंपनियों में निवेश कर रखा है, लेकिन अगर उनके 5 बड़े निवेश देखेंगे तो उसमें वह लगातार इन्‍वेस्‍टमेंट बढ़ाते जा रहे हैं। कई कंपनियों में तो उनका निवेश 25 साल से भी पुराना हो चुका है। इसके बाद भी वह इन कंपनियों में निवेश जारी रखे हुए हैं। इन कंपनियों में उन्‍होंने धीरे-धीरे अपनी हिस्‍सेदारी बढ़ाई और अब अरबों रुपए का मुनाफा हो रहा है। उन्‍होंने निवेश के लिए अपने शुरुआती समय में कुछ फार्मूले तय किए थे, जिन पर वह अब भी कायम हैं। इसके चलते वह मोटा मुनाफा कमा रहे हैं। अगर उनके इन फार्मूलों पर ध्‍यान दिया जाए तो कोई भी स्‍टॉक मार्केट से अच्‍छी कमाई कर सकता है।

 

 

आगे पढ़ें -ये हैं बर्कशायर हैथवे के टॉप 5 निवेश

 

 

 

ये हैं बर्कशायर हैथवे के टॉप 5 निवेश

 

1. एप्‍पल की सबसे बड़ी निवेशक कंपनी बनी बर्कशायर हैथवे
वारेन बफे ने इसी साल मार्च क्वार्टर के दौरान एप्पल के 7.5 करोड़ नए शेयर खरीदे। इसके साथ ही बफे की कंपनी बर्कशायर हैथवे के पास एप्पल के कुल 24 करोड़ शेयर हो गए। इस प्रकार बफे की कंपनी एप्पल की सबसे बड़ी होल्डिंग कंपनी बन गई। इससे पहले बर्कशायर हैथवे का सबसे ज्यादा निवेश वेल्स फारगो में था, जो अब नबंर दो पर आ गई है।

 

 

2.  वेल्स फारगो एंड कंपनी आई नबंर दो पर
इस कंपनी में बफे ने 1989 में निवेश शुरू किया था। बाद में वह इस निवेश को धीरे-धीरे बढ़ाते रहे। इस वक्‍त बर्कशायर हैथवे के कुल निवेश का करीब 14.54% सिर्फ इसी कंपनी में है। इस कंपनी के उनके पास करी 45.8 करोड़ शेयर हैं, जिनकी फरवरी 2018 में वैल्‍यू 27.8 अरब डॉलर है।

 

3.  क्राफ्ट हेन्ज कंपनी
बफे का तीसरा सबसे बड़ा इन्‍वेस्‍टमेंट क्राफ्ट हेन्ज कंपनी में है। यह कंपनी एक फूड कंपनी क्राफ्ट फूड ग्रुप और हेन्ज कंपनी के विलय के बाद बनी थी। बफे के पास इस विलय के पहले ही हेन्ज के 5 करोड़ शेयर थे। इतने ही शेयर एक कंपनी 3G कैपिटल के पास थे। इन दोनों ने इस विलय में मदद की और बाद में बफे को नई कंपनी के 32.56 करोड़ शेयर मिले। इनकी वैल्‍यू इस वक्‍त 25.3 अरब डॉलर है।

 

 

आगे भी पढ़ें 


 

 

4.  बैंक ऑफ अमेरिका
बफे ने 2008 की मंदी में भी इस बैंक का साथ नहीं छोड़ा था और आज उनका यह फैसला अरबों रुपए का मुनाफा करा रहा है। बर्कशायर हैथवे के पोर्टफोलियो में इस बैंक की होल्डिंग करीब 10.48% है। जहां तक शेयरों की बात है तो इसकी संख्‍या 67.9 करोड़ है। इसकी वैल्‍यू करीब 20 अरब डॉलर है। बफे का वित्‍तीय क्षेत्र की कंपनियों में यह दूसरा बड़ा निवेश है। पहले नबंर पर वेल्स फारगो एंड कंपनी है।

 

 

5.   कोका कोला में 5वां बड़ा निवेश
कोका कोला दुनिया की जानमानी कंपनी है और भारत में भी एक्टिव है। अमेरिका में लिस्‍टेड इस कंपनी में बफे ने 1980 से ही निवेश करना शुरू कर दिया था। इस वक्‍त उनके फोर्टफोलियो में इसकी हिस्‍सेदारी 9.6% है। उनके निवेश की वैल्‍यू इस वक्‍त 18.3 अरब डॉलर है। बफे का मानना है कि इस कंपनी में अभी भी निवेश किया जा सकता है। उन्‍होंने अपनी होल्डिंग कोका कोला में धीरे-धीरे बढ़ाई है। उनका मानना है कि कंपनी के पास बेहतर प्रोडक्‍ट हैं और दुनियाभर में अच्‍छा डिस्‍ट्रीब्‍यूशन सिस्‍टम है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट