विज्ञापन
Home » Industry » StartupsOla Co-Founder Bhavish Aggarwal Turned Down $1.1 Billion SoftBank Deal

7 हजार करोड़ लेकर दरवाजे पर खड़ी थी जापानी कंपनी, लेकिन भारतीय ने किया इनकार

कंपनी का कंट्रोल विदेशियों को देने को राजी नहीं हुआ शख्स

1 of

नई दिल्ली. जहां स्टार्टअप कंपनियां फंडिंग पाने की उम्मीद में रहती हैं, वहीं Ola के को-फाउंडर भाविश अग्रवाल ने अपनी कंपनी के लिए फंडिंग लेने से इनकार कर दिया है। जापानी कंपनी SoftBank Group Corp ने ओला में 1.1 अरब डॉलर (7.6 हजार करोड़ रुपए) के निवेश का ऑफर दिया था, जिसे भाविश ने ठुकरा दिया है। दरअसल भाविश कंपनी पर अपना कंट्रोल बनाए रखना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने सॉफ्टबैंक के 7.6 हजार करोड़ रुपए लेने से इनकार कर दिया।

 

कंपनी में अपनी जगह बनाए रखने को उठाया कदम

Bloomberg की रिपोर्ट के मुताबिक जापानी बिजनेसमैन और इन्वेस्टर Masayoshi Son सॉफ्टबैंक के प्रमुख हैं। ओला के शुरुआती दिनों में भी सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प इसमें निवेशक था। इसके बाद सॉफ्टबैंक ने Ola के प्रतिद्वंदी स्टार्टअप Uber में हिस्सेदारी खरीद ली। फिर सॉफ्टबैंक ने ओला और उबर के मर्जर की खासी कोशिशें कीं, लेकिन भाविश ने उसके इस प्लान को अटका दिया।

 

यह भी पढ़ें- Jio के बाद Reliance का नया धमाका, बसाएगी अपनी मेगासिटी, यहां होगा अंबानी का राज

अन्य जगहों से फंडिंग जुटा रहे भाविश

इस बीच सॉफ्टबैंक ने ओला को 1.1 अरब डॉलर के निवेश का ऑफर दिया। अगर ऐसा होता तो ओला में सॉफ्टबैंक की हिस्सेदारी बढ़कर 40 फीसदी हो जाती। इस प्रस्ताव के सामने भाविश ने ओला में अपना कंट्रोल बनाए रखने की शर्त रखी, जिससे यह डील अटक गई। अब अग्रवाल दूसरे इन्वेस्टर्स से फंडिंग जुटा रहे हैं। इसी साल उन्होंने Hyundai Motor Co. से 2,082 करोड़ रुपए और Flipkart के को-फाउंडर सचिन बंसल से 624 करोड़ रुपए जुटाए।

 

 

यह भी पढ़ें- दुनिया के टॉप अमीर को उसी के दांव से मात देंगे अंबानी, ताबड़तोड़ खरीदीं 26 कंपनियां

 

2011 में रखी थी Ola की नींव

33 वर्षीय भाविश अग्रवाल ने 2011 में अपने इंजीनियरिंग स्कूल के दोस्त अंकित भाटी के साथ मिलकर Ola की शुरुआत की थी। फिलहाल इस प्लेटफॉर्म पर देश के 100 से ज्यादा शहरों में 13 लाख ड्राइवर हैं। पिछले साल कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और ब्रिटेन में सर्विसेज देना शुरू किया है। भारत में कंपनी ने फूड बिजनेस में भी एंट्री मारी है। इसके साथ ही Uber Eats, Zomato और Swiggy के मार्केट शेयर पर भी हिस्सेदारी कर ली है।

 

 

यह भी पढ़ें- अंबानी को मिलेगी बड़ी चुनौती, 57 हजार करोड़ जमा कर रहे बिड़ला और मित्तल

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन