बिज़नेस न्यूज़ » Industry » StartupsGST ने बिगाड़ा स्टार्टअप का सेंटीमेंट, नई कंपनियों की संख्या में लगातार गिरावट

GST ने बिगाड़ा स्टार्टअप का सेंटीमेंट, नई कंपनियों की संख्या में लगातार गिरावट

मोदी सरकार ने भले ही ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दिशा में कई कदम उठाए हैं, लेकिन उसका असर नए बिजनेसमैन पर नहीं दिख रहा है।

1 of

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने भले ही ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दिशा में कई कदम उठाए हैं, लेकिन उसका असर नए बिजनेसमैन पर नहीं दिख रहा है। यानी जो लोग नए बिजनेस शुरु करना चाहते हैं, उनका सेंटीमेंट बिगड़ गया है। पिछले चार महीने से लगातार देश में नई कंपनियों के रजिस्ट्रेशन में गिरावट आई है। जुलाई से शुरू हुई गिरावट की एक प्रमुख वजह जीएसटी भी रहा है। एक्सपर्ट के अनुसार जीएसटी लागू होने के बाद से जिस तरह सेंटिमेंट बिगड़ा है, उसके बाद नई बिजनेस एक्टिवटी में असर दिखा है। इसके अलावा जिस तरह से शेल कंपनियों पर एक्शन सरकार ने लिया है, उसका भी असर नए कंपनियों के रजिस्ट्रेशन पर दिखा है।

 

क्या कहते हैं आंकड़े

 

मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स से moneybhaskar.com को मिले आंकड़ों के अनुसार जुलाई से लगातार नई कंपनियों की रजिस्ट्रेशन संख्या में कमी आई है। आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2017 से जो पॉजिटिव सेंटीमेंट नए बिजनेस को लेकर बना था, उस पर ब्रेक लगा है। खास तौर से जुलाई में GST लागू होने के बाद काफी निगेटिव इम्पैक्ट हुआ है। इसके पहले जनवरी 2017 में नई कंपनियों की रजिस्ट्रेशन की संख्या पिछले दो साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई थी। उस अवधि में 11900 के करीब नई कंपनियों का रजिस्ट्रेशन हुई था। जो कि अब गिरकर 7500 के लेवल तक अक्टूबर में आ गई है।

 

माह

नई कंपनियों का रजिस्ट्रेशन

जुलाई

9386

अगस्त

9373

सितंबर

8849

अक्टूबर

7524

 

इन राज्यों में सबसे ज्यादा रजिस्टर्ड हुई कंपनियां

राज्य

कंपनियों की संख्या

कुल रजिस्टर्ड कंपनियों का प्रतिशत

महाराष्ट्र

1413

18.70

दिल्ली

1079

14.28

उत्तर प्रदेश

753

10.00

 

शेल कंपनियों पर एक्शन से भी हुआ असर

 

नई रजिस्ट्रेशन में आई कमी की वजह पिछले दिनों सरकार द्वारा शेल कंपनियों पर लिया गया एक्शन भी है। अक्टूबर तक के आंकड़ों के अनुसार देश में 17 लाख से ज्यादा कंपनियां रजिस्टर्ड हुई हैं। जिसमें 5 लाख से ज्यादा कंपनियां बंद हो चुकी है। इसमें से बड़ी संख्या शेल कंपनियां रही है। केंद्र सरकार के एक्शन के बाद ब्लैकमनी को ठिकाने लगाने के लिए बनाई जा रही कंपनियों पर भी लगाम लगी है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट