विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorGovernments warning failed Air travel costs to be expensive

Air Ticket / हवाई चप्पल वाले नहीं कर पाएंगे हवाई सफर, सरकार की चेतावनी फेल, आसमान छूने लगा किराया

दिल्ली-मुंबई के किराए में 1500 रुपए की बढ़ोतरी, बंगलुरू- कोलकाता का भी किराया बढ़ा

Governments warning failed Air travel costs to be expensive

एविएशन मंत्रालय की किराए को किफायती रखने की हिदायत का नहीं दिख रहा असर

शुक्रवार को दिल्ली-मुंबई रूट का किराया 8000 रुपए हो गया।

 

नई दिल्ली। जेट एयरलाइंस के जमीन पर आने के बाद हवाई जहाज का किराया आसमान पर पहुंच गया है। जेट एयरलाइंस के 120 विमान के परिचालन ठप होने के बाद से प्रमुख रूट पर किराए में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। हालांकि गत गुरुवार देर रात को सिविल एविएशन मंत्रालय की तरफ से सभी विमान कंपनियों को अपने किराए को किफायती रखने की हिदायत दी गई थी, लेकिन इसका कोई असर नहीं दिख रहा है। इन कंपनियों को बाजार बिगाड़ने वाले रवैये से बचने के लिये कहा गया है।

 

हवाई टिकट का किराया न बढ़े इसकी कोशिश 

नागर विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने कहा कि विमानन कंपनियों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को विमानन कंपनियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में यह कहा। कंपनियों से कहा गया है कि वह बाजार बिगाड़ू मूल्य गतिविधियों से बचें और विमान यात्रा टिकटों के दाम यात्रियों की पहुंच के दायरे में रखें।

 

दिल्ली-मुबई रूट का किराया 8000 रुपए

वहीं शुक्रवार को दिल्ली-मुंबई रूट का किराया 8000 रुपए हो गया। अप्रैल माह में अगर आप दिल्ली से मुंबई  जाना चाह रहे हैं तो आपको कम से कम 5000 रुपए चुकाने ही पड़ेंगे। देश के लगभग सभी प्रमुख रूट के किराए में 25-40 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो रही है। आने वाले समय में किराए में और बढ़ोतरी की संभावना है। जानकारों का कहना है कि हवाई जहाज का किराया बाजार के डायनिमिक्स मतलब मांग एवं उपलब्धता के मुताबिक तय होता है। जाहिर सी बात है कि जेट का परिचालन ठप होने के बाद से मांग के मुताबिक सीटों की उपलब्धता कम हो गई है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss