बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Service Sectorजून में ग्रोथ के ट्रैक पर लौटा सर्विस PMI, बीते एक साल में सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी

जून में ग्रोथ के ट्रैक पर लौटा सर्विस PMI, बीते एक साल में सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी

मई में मामूली सुस्ती के बाद जून में सर्विस सेक्टर में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली।

Services PMI returns to growth in June, records sharpest expansion in a yr

 

नई दिल्ली. मई में मामूली सुस्ती के बाद जून में सर्विस सेक्टर में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली। एक मंथली सर्वे के मुताबिक, नए बिजनेस ऑर्डर्स से मिले सपोर्ट के दम पर सर्विस सेक्टर ने एक साल के दौरान जून में सबसे तेज ग्रोथ दर्ज की। हर महीने आने वाले निक्की इंडिया सर्विसेस बिजनेस एक्टिविटी इंडेक्स मई के 49.6 की तुलना में जून में बढ़कर 52.6 के स्तर पर पहुंच गया, जो जून, 2017 के बाद सबसे तेज ग्रोथ रही।

 

 

एक साल में सबसे बेहतर प्रदर्शन

PMI में 50 से ऊपर का मतलब बढ़ोत्तरी होता है, जबकि 50 से नीचे का मतलब सुस्ती होता है। आईएचएस मार्किट के इकोनॉमिस्ट और रिपोर्ट के ऑथर आशना ढोढिया ने कहा, ‘जून में सर्विस सेक्टर ने ग्रोथ के ट्रैक पर वापसी की। उत्साहित करने वाली बात है कि हालिया प्रदर्शन बीते एक साल के दौरान सबसे बेहतर रहा है। सर्विस सेक्टर को डिमांड परिदृश्य में सुधार का फायदा मिला।’

 

 

जॉब में भी अच्छी रही ग्रोथ

डिमांड कंडीशंस में सुधार से मई के 5 महीने के लो की तुलना में जॉब्स में अच्छी ग्रोथ दर्ज की गई। ढोढिया ने कहा, ‘डिमांड कंडीशंस में सुधार को देखते हुए सर्विस प्रोवाइडर्स ने पिछले सर्वे पीरियड की तुलना में तेजी से इंप्लॉइज की संख्या बढ़ाई।’

 

 

जुलाई, 2014 के बाद सबसे ज्यादा बढ़ी इनपुट कॉस्ट

प्राइस के मामले में इनपुट कॉस्ट इनफ्लेशन मजबूत बनी रही, हालांकि सर्विसेस प्रोवाइडर इनपुट कॉस्ट का पूरा बोझ कीमतों के माले में संवेदनशील कंज्यूमर्स पर शिफ्ट नहीं कर सके।

ढोढिया ने इन स्थितियों का उल्लेख करते हुए कहा, ‘जुलाई, 2014 के बाद इनपुट कॉस्ट में सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी दर्ज की गई और कमजोर रुपए, तेल की ऊंची कीमतों से भी महंगाई पर प्रेशर बढ़ा।’

 
 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट