बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Service Sector'इंटरनेशन कनेक्टिविटी के लिए भी बने उड़ान जैसी स्कीम, इंडियन कंपनियों को होगा फायदा'

'इंटरनेशन कनेक्टिविटी के लिए भी बने उड़ान जैसी स्कीम, इंडियन कंपनियों को होगा फायदा'

स्पाइस जेट के सीएमडी अजय सिंह ने विदेशी हवाई यात्रा में भी उड़ान जैसी स्कीम लाने का सुझाव दिया है।

1 of

नई दिल्ली। स्पाइस जेट के सीएमडी अजय सिंह ने विदेशी हवाई यात्रा में भी उड़ान जैसी स्कीम लाने का सुझाव दिया है। उनका कहना है कि इससे इंडियन विमानन कंपनियों को बढ़ावा मिलेगा और वे विदेशी कंपनियों से मुकाबला कर पाएंगी। उनका कहना है कि देश में और भी कई डेस्टिनेशन डेवलप किए जाने की जरूरत है, जहां से सीधे विदेशी यात्रा की जा सके। 

 

बता दें कि रिजनल कनेक्टिविटी को बढ़ाने के लिए डोमेस्टिक फ्लाइट के लिए सरकार की खास उड़ान स्कीम है। स्कीम के जरिए कम किराए पर हवाई यात्रा की सुविधा मिलती है। सरकार का लक्ष्‍य है कि देश के ज्यादा से ज्यादा हिस्सों तक विमानन सेवाएं पहुंचाई जाए, जिससे लोगों के समय की बचत हो और आवा-जाही आसान हो सके। 

 

तेजी से बढ़ रहा एविएशन मार्केट

अजय सिंह का कहना है कि भारत में डोमेस्टिक एविएशन मार्केट सबसे तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे लोगों की संख्‍या भी तेजी से बढ़ रही है जो विमान से यात्रा करना पसंद कर रहे हैं। भारत में 130 करोड़ की आबादी है। इसमें से बड़ी संख्‍या ऐसी है जो विदेश आती-जाती रहती है। ऐसे में समय आ गया है कि इंडियन कंपनियां उन्हें सीधे फॉरेन डेस्टिनेशन तक अपनी सर्विस दे सकें। हालांकि अभी इसके लिए हम विदेशी कंपनियों पर ज्यादा निर्भर हैं। 

 

ग्लोबल इंटरनेशनल हब बनाने की जरूरत
स्पाइस जेट के चीफ का कहना है कि अभी दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बंगलुरू सहित देश भर में ऐसे कम ही शहर हैं, जहां से सीधी विदेश उड़ान की सुविधा है। ऐसे में सरकार को ऐसे और कई सेंटर डेवलप करने चाहिए, जहां से सीधी उड़ान की सुविधा मिल सके। इसके अलावा सरकार को उड़ान जैसी स्कीम पर काम करना चाहिए, जिससे किराया सस्ता होने की वजह से जहां ज्यादा से ज्यादा लोग विदेश यात्रा कर पाएं, वहीं भारतीय विमानन कंपनियों को भी फायदा हो। इसके लिए सरकार को विमानन कंपनियों को भी योजना में शामिल करना चाहिए या उनसे बात करनी चाहिए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट