विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorZomato Joins Hand With Feeding India To Battle Food Wastage And Hunger

Zomato ने मिलाया Feeding India से हाथ, रोकेंगे खाने की बर्बादी, उसे पहुंचाएंगे जरूरतमंदों तक

यह पहल इस उद्देश्य से शुरू की गई है कि रात को कोई भी भूखे पेट न सोए

1 of

नई दिल्ली.

ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी Zomato ने देश में भुखमरी और भाेजन की बर्बादी रोकने के लिए एक गैर सरकार संस्था Feeding India के साथ हाथ मिलाया है। इसके तहत Zomato अपने साथ जुड़े होटल्स, रेस्टोरेंट व अन्य इंटरप्राइजेस के पास बचने वाला खाना इकठ्‌ठा करके Feeding India को देंगे जो उसे जरूरतमंदों तक पहुंचाएगा। जोमैटो का नेटवर्क फीडिंग इंडिया के मौजूदा मॉडल के साथ मिलकर काम करेगा। Zomato के फाउंडर व सीईओ दीपिंदर गोयल ने यह पहल इस उद्देश्य से शुरू की है कि रात को कोई भी भूखे पेट न सोए।

 

2 करोड़ लोगों को भोजन परोस चुकी है Feeding India

यह एक गैर-सरकारी संगठन है जो इवेंट्स, एयरपोर्ट्स, शादियों, रेस्टोरेन्ट, कारपोरेट्स जैसे ईवेंट्स से बचा हुआ भोजन इकट्ठा कर इसे ज़रूरतमंद लोगों तक पहुंचाता है। इसके अलावा फीडिंग इंडिया अपने आधुनिक किचन माॅडल के माध्यम से ताजा भोजन भी पकाता है, जिसे जरूरतमंद लोगों, खासतौर पर भुखमरी और कुपोषण की शिकार महिलाओं और बच्चों तक पहुंचाया जाता है। पिछले चार साल में संगठन को इंग्लैण्ड की महारानी, United Nations के वर्ल्ड फूड प्रोग्राम और यहां तक कि भारत के प्रधानमंत्री द्वारा भी सम्मानित किया जा चुका है। इसे 2014 में अंकित क्वात्रा और सृष्टि जैन ने शुरू किया था। यह टीम अपने पांच स्थायी प्रोग्रामों के ज़रिए भारत के 65 से अधिक शहरों में काम कर रही है। फीडिंग इण्डिया अब तक अपनी 12 फूड रिकवरी वैन्स, 50 से अधिक कम्युनिटी फ्रिज और 8500 से अधिक स्वयंसेवकों के साथ मिलकर 2 करोड़ लोगों को भोजन परोस चुकी है।

 

 

हर महीने 5 करोड़ ग्राहकों को सर्व करता है Zomato

रेस्टोरेंट सर्च और डिस्कवरी प्लेटफॉर्म जोमैटो पर 24 देशों के 14 करोड़ से ज्यादा रेस्टोरेंट्स के बारे में जानकारी ली जा सकती है। यह हर महीने 5 करोड़ से ज्यादा उपभोक्ताओं को अपनी सेवाएं प्रदान करता है। इसे 2008 में दीपिन्दर गोयल और पंकज चड्ढा ने स्थापित किया था। Zomato आधुनिक तकनीक के माध्यम से रेस्त्रां कारोबार को उपभोक्ताओं के साथ जोड़ने में मुख्य भूमिका निभाता है। इन सेवाओं के अलावा उपभोक्ता जोमैटो के जरिए Food lover's network में रेस्त्रां सर्च कर सकते हैं, उसे रेटिंग दे सकते हैं और रिव्यु भी दे सकते हैं। इसके अलावा जोमैटो ने आॅनलाईन आॅर्डर (फूड डिलीवरी), टेक अवे सर्विसेज (सेल्फ पिकअप), टेबल रिजर्वेशन, रेस्टोरेन्ट (हाइपरप्योर) के लिए बी 2 बी फूड इनग्रीडिएन्ट सप्लाई, कोरपोरेट केटरिंग पोर्टल (फूड एट वर्क) तथा सब्सक्रिप्श्न आधारित प्रोग्रामों जैसे जोमैटो गोल्ड एवं जोमैटो पिगीबैंक में भी अपना विस्तार किया है।

 

 

ज्यादा लोगों को बेहतर खाना पहुंचाने की मुहिम

दीपिंदर गोयल ने कहा, ‘‘हम फीडिंग इण्डिया के साथ मिलकर उनकी इस पहल को आगे तक लेकर जाएंगे और बड़ी संख्या में ज़रूरतमंद लोगों तक खाना पहुंचाने की कोशिश करेंगे, जिसे यूं ही बर्बाद कर दिया जाता है। शुरूआत में हम अपने प्लेटफाॅर्म पर मौजूदा रेस्टोरेंट्स को फीडिंग इंडिया के नेटवर्क पर एक्टिवेट करेंगे और टेक्नोलाॅजी के इस्तेमाल द्वारा वॉलेंटियर नेटवर्क बढ़ाने में उनकी मदद करेंगे। फीडिंग इण्डिया हमारा महत्वपूर्ण साझेदार है जो ‘ज़्यादा लोगों को बेहतर भोजन’ मुहैया कराने के हमारे मिशन को पूरा करने में योगदान देगा।’’ वहीं अंकित क्वात्रा ने कहा, ‘‘हम न केवल भारत में बल्कि दुनिया भर में खाने की बर्बादी को रोकने और भुखमरी मिटाने के लिए प्रयासरत हैं। मुझे खुशी है कि ज़ोमेटो के ‘ज़्यादा लोगों को बेहतर भोजन’ उपलब्ध कराने के दृष्टिकोण के साथ हम अपने इस आंदोलन को और सशक्त बना सकेंगे और एक साथ मिलकर भुखमरी एवं खाने की बर्बादी रोकने के मिशन की ओर बढ़ सकेंगे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन