विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorVice President of This Korean Airlines Sent To Jail Due To Peanuts

मूंगफली सर्व करना भारी पड़ा कोरियन एयरलाइंस कंपनी को, वाइस प्रेसिडेंट को जेल की सजा

इसी महीने दो भाइयों को सियोल एयरपोर्ट पर मूंगफली से एलर्जी के कारण विमान में नहीं चढ़ने दिया गया था

1 of

एजेंसी | सियोल

दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी कोरियन एयर के लिए मूंगफली जी का का जंजाल बन गई। पांच साल पहले 2014 में मूंगफली से जुड़े विवाद के कारण कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट हीथर चो को 12 महीने जेल की सजा सुनाई गई थी। उस विवाद का असर ऐसा रहा कि पिछले बुधवार को कंपनी के फाउंडर और हीथर के पिता चो यांग हो को बोर्ड से बाहर कर दिया गया। इतना ही नहीं मूंगफली के कारण ही इसी महीने सियोल में दो यात्रियों को विमान में नहीं चढ़ने दिया गया।

मूंगफली से की तौबा

कंपनी ने आखिरकार मूंगफली से तौबा करने का फैसला कर लिया है। रविवार को कोरियन एयरलाइंस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अब यह यात्रियों को मूंगफली सर्व नहीं करेगी। कंपनी ने यह भी फैसला किया है कि वह धीरे-धीरे मेन्यू में से उस हर आइटम को बाहर कर देगी, जिसमें मूंगफली का इस्तेमाल किया गया हो।

 

एक घटना से लिया सबक 

कंपनी ने इसके पीछे कई लोगों को मूंगफली से एलर्जी होने को कारण बताया है। सियोल में जिन दो भाइयों को विमान में नहीं चढ़ने दिया गया, उन्हें भी मूंगफली से एलर्जी थी। उन्होंने कंपनी से अनुरोध किया था कि उनके आस-पास मूंगफली सर्व न की जाए। कंपनी ने इस अनुरोध को नहीं माना था और दोनों भाइयों को यात्रा रद्द करनी पड़ी थी। बाद में एयरलाइंस ने गलती स्वीकार करते हुए उनसे माफी मांगी और अब मूंगफली न सर्व करने का फैसला किया।

मूंगफली के चक्कर में वाइस प्रेसिडेंट को हो गई जेल 

इस एयरलाइंस की मूंगफली से अदावत 2014 में शुरू हुई। तब न्यूयॉर्क से उड़ान भरने की तैयारी कर रहे इसके एक विमान में कंपनी की वाइस प्रेसिडेंट हीथर चो भी सवार थी। फ्लाइट अटेंडेंट ने हीथर को मूंगफली का पैकेट सर्व किया। हीथर इस बात पर नाराज हो गई कि फर्स्ट क्लास में मूंगफली प्लेट में निकालकर सर्व किया जाना चाहिए। उनका गुस्सा इतना बढ़ गया कि उन्होंने फ्लाइट अटेंडेंट को तमाचा जड़ दिया। बाद में कोरियाई अदालत में इस व्यवहार के लिए उन्हें 12 महीने जेल की सजा सुनाई गई। 

फाउंडर को कर दिया कंपनी से बाहर 

इस घटना के बाद एयरलाइंस और हीथर की दुनियाभर में आलोचना हुई। इससे उनके पिता चो यांग हो की स्थिति कंपनी में कमजोर होती गई। पांच साल बाद पिछले बुधवार को चो को बोर्ड से बाहर कर दिया गया। वे कोरिया के पहले ऐसे फाउंडर बन गए जिन्हें उनकी ही कंपनी के बोर्ड से बाहर किया गया। चो पर अन्य आरोप भी थे, लेकिन विशेषज्ञों का मानना है कि 2014 की घटना की उनके बाहर होने में बड़ी भूमिका रही है।

 

 

77 हजार करोड़ रुपए है कोरियन एयर का रेवेन्यू

दक्षिण कोरिया की सबसे बड़ी एयरलाइंस कंपनी कोरियन एयर का रेवेन्यू 77 हजार करोड़ रुपए (2017 के आंकड़े) है। कंपनी की फ्लीट में 166 विमान हैं। 44 देशों के 124 शहरों में इसकी सर्विस उपलब्ध है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन