विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorNorthern Railway has so far sold the highest amount of 428 crores junk

स्वच्छता अभियान के दौरान निकले कबाड़ से उत्तर रेलवे हुई मालामाल

उत्तर रेलवे ने अब तक सबसे अधिक 428 करोड़ रुपए का कबाड़ बेचा

Northern Railway has so far sold the highest amount of 428 crores junk

 

Northern Railway has so far sold the highest amount of 428 crores junk उत्तर रेलवे के मुख्यालय द्वारा चलाया गया स्वच्छता अभियान कमाई का बड़ा जरिया बन गया है। स्वच्छता अभियान के दौरान उत्तर रेलवे में स्टेशनों, कोच व इंजन मेंटेनेंस डीपो, कोच फैक्टरियों से निकले लोहे,प्लास्टिक, खराब पार्ट, मशीनों का स्क्रैप बेचकर उत्तर रेलवे मालामाल हो गई है। उत्तर रेलवे ने इस वर्ष 428 करोड़ रुपए की रिकार्ड कमाई की है।

नई दिल्ली। उत्तर रेलवे के मुख्यालय द्वारा चलाया गया स्वच्छता अभियान कमाई का बड़ा जरिया बन गया है। स्वच्छता अभियान के दौरान उत्तर रेलवे में स्टेशनों, कोच व इंजन मेंटेनेंस डीपो, कोच फैक्टरियों से निकले लोहे,प्लास्टिक, खराब पार्ट, मशीनों का स्क्रैप बेचकर उत्तर रेलवे मालामाल हो गई है। उत्तर रेलवे ने इस वर्ष 428 करोड़ रुपए की रिकार्ड कमाई की है।  उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि  उत्तर  रेलवे के जनरल मैनेजर टीपी सिंह के द्वारा पांचो मंडल दिल्ली, अंबाला, फिरोजपुर, मुरादनगर और लखनऊ मंडल में स्वच्छता अभियान चलाया गया था। 

हैरिटेज पुल को उत्तर रेलवे ने 7.41 करोड़ रुपए में राज्य सरकार को बेचा


इस दौरान इन सभी मंडलो से बड़ी मात्रा में स्क्रैप एकत्र हुई थी जिसका पीसी एमएम रामलाल और सीएमएम बीके गुप्ता के निर्देशन में निलामी की गई है। इस कबाड़ की रकम  उत्तर  रेलवे के अब तक के इतिहास में सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि देश भर में स्क्रैप बेचकर आय प्राप्त करने के मामले में उत्तर रेलवे दूसरे नंबर पर है जबकि प्रथम नंबर पर वेस्टर्न रेलवे रही है। बॉक्स हैरिटेज पुल को उत्तर रेलवे में 7.41 करोड़ रुपए में राज्य सरकार को बेचा उत्तर प्रदेश के प्रयाग राज स्थित हैरिटेज पुल को उत्तर रेलवे ने 7.41 करोड़ रुपए में राज्य सरकार को बेच दिया है। 

 इस पुल को उत्तर प्रदेश सरकार पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करेगी


इलाहबाद और प्रयागराज के बीच जोड़ने वाले प्राचीन पुल लॉर्ड कर्जन ब्रिज टेलरगंज गंगा नदी पर बनी हुई थी। उत्तर रेलवे के प्रवक्ता दीपक कुमार ने बताया कि यह काफी पुराना पुल है, इस पुल की जगह रेलवे ने नया पुल बना लिया है। अब उत्तर रेलवे ने पुराने पुल का उपयोग बंद करने के बाद इसे उत्तर प्रदेश सरकार को हैरिटेज पुल के रूप में मेंटेनेंस की शर्त पर बेच दिया है। अब इस पुल का इस्तेमाल यात्रियों के आने -जाने के लिए किया जाएगा। इस पुल को उत्तर प्रदेश सरकार पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करेगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss