Advertisement
Home » Industry » Service SectorMastercard ready to delete Indian cardholders data from global server

भारतीयों का डाटा डिलीट करने को मजबूर हुई Mastercard, आपको हो सकता है ये नुकसान

भारतीय रिजर्व बैंक को भेजा प्रस्ताव, जवाब को इंतजार

1 of

नई दिल्ली। भारत में डेबिट और क्रेडिट कार्ड की सेवाएं देने वाली अमरीकी कंपनी Mastercard भारतीय कार्डधारकों का विदेशों में रखा डाटा डिलीट करने के लिए तैयार हो गई है। इसके लिए कंपनी ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) को एक प्रस्ताव भेजा है। एक समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, आरबीआई को डाटा डिलीट करने के लिए भेजे प्रस्ताव में MasterCard ने एक निश्चित तारीख से डाटा डिलीट करने की बात कही है। साथ ही कंपनी ने कार्डधारकों की सुरक्षा और बचाव को लेकर चिंता जताई है। 

 

दुनिया के हर कोने से डाटा डिलीट करने को तैयार कंपनी 

 

MasterCard के साउथ एशिया और इंडिया हेड पौरुष सिंह ने समाचार एजेंसी से बातचीत में कहा कि कंपनी पूरी दुनिया में 200 देशों में कारोबार करती है। उन्होंने कहा कि कंपनी दुनिया में जहां भी भारतीयों का डाटा सुरक्षित है, वहां से उसे डिलीट करने को तैयार है। सिंह ने कहा कि हमने आरबीआई को एक प्रस्ताव भेजा है जिसमें एक निश्चित तारीख से डाटा डिलीट करने की बात कही है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव में डाटा डिलीट होने के बाद होने वाले नुकसानों की भी जानकारी दी गई है। सिंह का कहना है कि डाटा डिलीट होने के बाद कंपनी लेनदेन को लेकर कोई विवाद होने पर डाटा उपलब्ध नहीं करा पाएगी। 

 

आगे पढ़ें-- इस तारीख से भारत में रखा जा रहा डाटा

6 अक्टूबर से भारत में ही रखा जा रहा है डाटा


भारतीय रिजर्व बैंक ने अप्रैल में भुगतान करने वाली सभी कंपनियों से भारतीय उपभोक्ताओं का डाटा भारत में ही सुरक्षित रखने के निर्देश दिए थे। इसके लिए आरबीआई ने सभी कंपनियों को 16 अक्टूबर तक का समय दिया था। Mastercard ने कहा कि उसने आरबीआई के निर्देशों के तहत 6 अक्टूबर से भारतीय उपभोक्ताओं का डाटा पुणे में ही सुरक्षित रखना शुरू कर दिया है। सिंह ने कहा कि उन्होंने आरबीआई को भेजे प्रस्ताव में भी कहा है कि भारतीय उपभोक्ताओं का डाटा वह स्थानीय स्तर पर ही सुरक्षित रखेगी।

 

आगे पढ़ें- आरबीआई ने दिया ये जवाब

आरबीआई के जवाब का इंतजार


डाटा डिलीट करने की तारीख के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि अभी इस पर कोई निर्णय नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उनके प्रस्ताव पर अभी आरबीआई की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। उन्होंने कहा कि आरबीआई जो भी तारीख तय करेगी, वे उसी के हिसाब से डाटा डिलीट करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि हमने डाटा डिलीट करने के लिए पूरी तैयारी कर ली हैं। आरबीआई का जवाब मिलते ही डाटा डिलीट करने का काम शुरू कर दिया जाएगा। हालांकि, उन्होंने कहा कि डाटा डिलीट करने बटन दबाने जैसा आसान काम नहीं है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss