विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorWhich Indian state has most international airports

देश के बड़े राज्यों को पीछे छोड़ केरल का नया रिकार्ड, बना 4 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला पहला राज्य

1,800 करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुआ एयरपोर्ट

Which Indian state has most international airports

केरल के कन्नूर में रविवार को इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्धाटन हुआ। केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभू और सीएम पिनराई विजयनन कन्नूस से अबू धाबी की पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस फ्लाइट से 186 लोगों ने उड़ान भरी और इस तरह इस एयरपोर्ट के उद्धाटन होते ही केरल भारत का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां चार अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट हैं।  कन्नूर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अलावा राज्य में तीन अन्य एयरपोर्ट कोच्चि, कोझिकोड़ और त्रिरुवन्तपुरम में हैं। 

नई दिल्ली. केरल के कन्नूर में रविवार को इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्धाटन हुआ। केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभू और सीएम पिनराई विजयन ने कन्नूर से अबू धाबी की पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस फ्लाइट से 186 लोगों ने उड़ान भरी और इस एयरपोर्ट के उद्धाटन के साथ ही केरल भारत का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां चार अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट हैं।  कन्नूर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अलावा राज्य में तीन अन्य एयरपोर्ट कोच्चि, कोझिकोड़ और तिरुअनंतपुरम में हैं। 

 

इन देशों के लिए होंगी फ्लाइट

कन्नूर का ये एयरपोर्ट 2,000 एकड़ में फैला है। इसे बनाने में करीब 1,800 करोड़ रुपए की लागत आई है। कन्नूर एयरपोर्ट को 2,000 यात्री क्षमता के हिसाब से बनाया गया है। एयरपोर्ट से सालाना 1.5 मिलियन से अधिक अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ान भर सकेंगी। इसके रनवे की लंबाई 3,050 मीटर है और इसे 4,000 मीटर तक बढ़ाया जा सकेगा। कन्नूर से चल रही अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में संयुक्त अरब अमीरात, ओमान और कतर शामिल होंगे। यह हवाई अड्डा हैदराबाद, बेंगलुरु और मुंबई से भी जुड़ा होगा। 

 

कर्नाटक के लोगों को भी होगा फायदा 
इस एयरपार्ट के शुरू होने से राज्य के मालाबार और कन्नूर के लोगों का आसानी होगी। साथ ही पड़ोसी राज्य कर्नाटक के कोडागू के रहने वालों को यात्रा में हवाई सफर में साहूलियत हो जाएगी। इस एयरपोर्ट से कोडागू का विराजपीठ महज 58 किमी. दूर है, जबकि जिला मुख्यालय करीब 90 किमीं दूर है। 

 

पैदा होंगे नए रोजगार 

कन्नूर एयरपोर्ट को पब्लिक पार्टनरशिप (पीपीपी) मॉडल के तहत विकसित किया गया है। उद्धाटन सत्र के दौरान सुरेश प्रभू ने कहा कि इस एयरपोर्ट के बनने से गल्फ देशों में रहने वाले नॉन रेजिडेंट केरलाइट को फायदा मिलेगा। इसके अलावा राज्य के पर्यटन और एक्सपोर्ट को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही नई नौकरियां पैदा होगी। सुरेश प्रभू ने कहा कि भारत में 100 एयरपोर्ट मौजूद हैं। जिन्हें 10 से 15 साल में 200 करने की योजना है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन