विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorJet Airways company board approves resolution plan of Bank consortium

नरेश गोयल के हाथ से निकली जेट एयरवेज, SBI होगा नया पायलट

कंपनी बोर्ड ने बैंकों के रिजॉल्यूशन प्लान को मंजूरी दी

1 of

नई दिल्ली। देश की किफायती एयरलाइन विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज से जल्द ही इसके फाउंडर-प्रमोटर नरेश गोयल का नियंत्रण खत्म हो सकता है। कंपनी के बोर्ड ने बैंकों के समूह के सबसे बड़ा प्रस्तावक बनने की इजाजत देने वाले प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इस प्रस्ताव के अमल के बाद कंपनी में गोयल की हिस्सेदारी 51 फीसदी के कम होकर 20 फीसदी पर आ सकती है। इसके अलावा बोर्ड की मंजूरी वाले प्रस्ताव के अनुसार, एतिहाद एयरवेज भी अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 25 फीसदी से ज्यादा कर सकती है। 

 

सबसे बड़े शेयरधारक बन जाएंगे बैंक
जेट बोर्ड की ओर से गुरुवार को जारी बयान के अनुसार, एसबीआई की अगुवाई वाले बैंकों के समूह ने अपने कर्ज का एक हिस्सा इक्विटी में बदलकर सबसे बड़े शेयरधारक बनने का प्रस्ताव दिया था। कंपनी बोर्ड के बयान के अनुसार, उसने बैंकों के इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। अब इसको जेट के शेयरधारकों की मंजूरी मिलना जरूरी है। 21 फरवरी को होने वाली शेयरधारकों की बैठक में बैंकों के प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है तो बैंकों कंपनी में सबसे बड़े शेयरधारक बन जाएंगे। 

जेट पर बैंकों का 8500 करोड़ का कर्ज


कंपनी बोर्ड के बयान के अनुसार बैंकों के रिजॉल्यूशन प्लान से 8500 करोड़ रुपए की फंडिंग का गैप पूरा होगा। इसे इक्विटी इंफ्यूजन, डेट रिस्ट्रक्चरिंग, सेल और लीज बैंक रीफाइनैंसिंग के जरिए किया जाएगा। हालांकि बोर्ड ने डील के स्ट्रक्चर का खुलासा नहीं किया है। कंपनी बोर्ड ने कहा है कि बैंक अपने डेट का आरबीआई के सर्कुलर के अनुसार एक रुपए के भाव पर कन्वर्ट करेंगे। 

शेयरधारकों की बैठक में ऑथराइज्ड कैपिटल बढ़ाने पर भी विचार


बयान के अनुसार 21 फरवरी को होने वाली शेयरधारकों की बैठक में कंपनी की ऑथराइज्ड कैपिटल बढ़ाने की मंजूरी भी ली जाएगी। कंपनी का कहना है कि वह ऑथराइज्ड शेयर कैपिटल को बढ़ाकर 2200 करोड़ रुपए करना चाहती है। कंपनी के अनुसार, बैंकों को 11.4 करोड़ शेयर आवंटित किए जाएंगे। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन