Home » Industry » Service SectorSports wear brand shiv naresh success story

कभी खेल के मैदान पर बेचते थे शॉर्ट्स, अब साइना नेहवाल-सुशील सिंह जैसे एथलीट पहनते हैं इनके बनाए स्पोर्ट्सवेयर..

स्पोर्ट वेयर सप्लाई करने वाली कंपनी ‘शिव-नरेश’ अब NIKE, रीबॉक और एडीडास जैसे ब्रांड को यूरोप में देगा टक्कर।

1 of

नई दिल्ली। देश में साइना नेहवाल, मैरी कॉम, अभिनव बिंद्रा, सुशील सिंह, विजेंदर सिंह जैसे स्टार एथलीट ‘शिव-नरेश’ ब्रांड की जैकेट, जर्सी, अपर और लोअर पहनते हैं। कभी शिव-नरेश ब्रांड को शुरू करने वाले शिव सिंह डीसीएम की फैक्ट्री में मजदूर थे और घर का खर्च चलाने के लिए शॉर्ट्स बनाकर खेल के मैदान में बेचा करते थे। कभी 500 रुपए में शुरू किया कारोबार 70 करोड़ रुपए का ब्रांड बन चुका है। अभी तक भारतीय ओलंपिक टीम, आईपीएल, हॉकी टीम को अपने स्पोर्ट वेयर सप्लाई करने वाली कंपनी ‘शिव-नरेश’ अब NIKE, रीबॉक और एडीडास जैसे ब्रांड को यूरोप में टक्कर देगी। इसके लिए वह अपना नया ब्रांड ‘OK’ लान्च कर चुकी है।

 

NIKE, रीबॉक और एडीडास की तरह लॉन्च किया प्रीमियम ब्रांड

 

शिव नरेश स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर शिव सिंह ने अपने फ्यूचर प्लान के बारे में moneybhaskar.com को बताया कि उन्होंने यूरोप में अपने ब्रांड ‘OK’ को रजिस्टर करा दिया है। दो यूरोप के देशों की हॉकी टीम को नए ब्रांड नाम के साथ स्पोर्टवेयर सप्लाई करेंगे। सिंह ने कहा, ‘कंपनी का लक्ष्य यूरोप की फुटबॉल टीमों के साथ भी टाई अप करना है। ये ‘OK’ ब्रांड कंपनी का NIKE, रीबॉक और एडीडास की तरह प्रीमियम ब्रांड होगा। उन्होंने कहा कि वह यूरोप में बड़े ब्रांड के साथ प्रतियोगिता करेगी और बड़े स्तर पर इसे लॉन्च किया गया है।

 

कौन हैं शिव नरेश

 

‘शिव-नरेश’ भारतीय ओलंपिक टीम, हॉकी टीम, टेनिस प्लेयर, बैडमिंटन को स्पोर्ट वेयर सप्लाई करती हैं। शिव नरेश स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड का टर्नओवर करीब 70 करोड़ रुपए है। उनके 800 से अधिक कर्मचारी हैं। ‘शिव-नरेश’ सालाना करीब 8.50 लाख स्पोर्ट वेयर बनाती है। कंपनी यूरोप, अमेरिका, एशियाई, अफ्रीको देशों में एक्सपोर्ट भी करती है। कंपनी की चार फैक्ट्री हैं। कंपनी बीजिंग ओलंपिक और लंदन ओलंपिक में एथलीटों को स्पोर्टवेयर सप्लाई कर चुकी है। वह उनकी स्पॉन्सर भी रही है।

 

भारतीय एथलीट पहनते हैं ‘शिव-नरेश’

 

देश में अभिनव बिंद्रा, सुशील सिंह, विजेंदर सिंह जैसे स्टार एथलीट ‘शिव-नरेश’ ब्रांड की जैकेट, जर्सी, अपर और लोअर पहनते हैं। यह कंपनी हॉकी टीम, आईपीएल टीम, ओलिंपिक टीम सहित वेस्ट इंडीज जैसे देशों के लिए ड्रेस सप्लाई कर चुकी है। खेलों की दुनिया, आर्मी, एयरफोर्स में ‘शिव-नरेश’ एक जाना माना नाम है। ‘शिव-नरेश’ को ब्रांड बनाने के पीछे शिव सिंह के पिता आर के सिंह की कड़ी मेहनत है।

 

पिता ने बनाया ब्रांड

 

स्पोर्ट वेयर ब्रांड को इस मुकाम पर पहुंचाने के लिए कंपनी के चेयरमैन और शिव सिंह के पिता आर के सिंह की कड़ी मेहनत है। कभी घर मे कपड़े सिलने का काम करने वाले सिंह शॉर्ट बनाकर कंधे पर लादकर खेल के मैदान में खिलाड़ियों को बेचने जाते थे।

 

आगे पढ़ें - कैसे बना बड़ा ब्रांड..

टेलरिंग से शुरू किया काम

 

आरके सिंह 1965 में डीसीएम केमिकल्स के मजदूर और एथलीट थे। वह कंपनी के खेल इवेंट में हिस्सा लेते थे। 75 साल के आर के सिंह ने बताया कि उनके दो बच्चे होने के बाद उनकी वाइफ ने ज्यादा कमाने के लिए कहा। तब उनकी पत्नी घर में कपड़े सिला करती थी। इनकम बढ़ाने के लिए उन्होंने वाइफ के साथ घर में ही कपड़े सिलने का काम शुरू कर दिया।

 

खिलाडियों को बेचते थे शॉर्ट्स

 

आर के सिंह पैंट, शर्ट के अलावा स्पोर्ट के लिए शॉर्ट सिलने लगे। तब उस समय स्पोर्ट शॉर्ट बने बनाए नहीं मिलते थे। सिंह ने कहा, ‘मैं शॉर्ट सिलकर बैग में भरके, जहां खेल होते थे, वहां खिलाड़ियों के बीच बेचता था।’ उन्होंने कहा कि तब शॉर्ट ज्यादा नहीं मिलते थे, इसलिए बिक जाते थे। काफी साल तक वह ऐसा करते रहे। वह स्वयं एक एथलीट थे, शॉर्ट, वेस्ट, ब्रीफ्स बेचने के दौरान उन्हें खेल देखने को मिल जाता था।

 

500 रुपए में खोली टेलरिंग की दुकान

 

साल 1987 में ‘शिव-नरेश’ ने दिल्ली के कर्मपुरा में अपनी टेलरिंग की दुकान खोली। तब उनका निवेश सिर्फ 500 रुपए था। उस दौरान वह जगह-जगह होने वाले स्पोर्ट इवेंट में खिलाड़ियों को स्पोर्ट वेयर बेचते थे। इन्हीं खिलाड़ियों के जरिए उन्हें आर्मी, एयरफोर्स में सप्लाई करने के ऑर्डर मिलने लगे। उस समय तक वह फैमिली के साथ मिलकर स्पोर्ट वेयर बनाते थे।

 

आगे पढ़ें - स्पोर्ट वेयर में दिखा स्कोप..

स्पोर्ट वेयर में दिखा स्कोप

 

साल 1991 में उनके बेटे शिव सिंह ने टेलिरंग के कारोबार को ज्वाइन किया। शिव सिंह ने इंजीनियरिंग किया था और वह सरकारी नौकरी करते थे। शिव नरेश स्पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर शिव सिंह ने कहा, ‘उस समय सरकारी नौकरी छोड़कर टेलरिंग से जुड़ने का फैसला लेना आसान नहीं था। लेकिन मुझे इस कारोबार में स्कोप दिखा। पिताजी ने खेल के मैदान में कपड़े बेचकर काफी सारा ग्राउंड वर्क कर रखा था।’

 

कारोबार में आया बदलाव

 

शिव सिंह ने क्वालिटी को बेहतर करने और प्रोडक्शन बढ़ाने के लिए कोरिया, ताइवान से रॉ मटेरियल और मशीनें खरीदी। अपने प्रोडक्शन का स्तर बढ़ाया। इस समय तक पीटी उषा, धनराज पिल्लै, कर्णम मल्लेश्वरी जैसे खिलाड़ी उनका ब्रांड पहनने लगे थे। इसके बाद उन्हें कभी पीछे मुड़कर नहीं देखना पड़ा।

 

क्रिकेट टीमों को करते हैं स्पोर्ट वेयर सप्लाई

 

कंपनी दिल्ली डेयरडेविल्स की स्पॉन्सर है। आईपीएल की तर्ज पर दुबई और वेस्ट इंडीज में होने वाले क्रिकेट टूर्नामेंट की टीमों को स्पोर्ट वेयर सप्लाई करती है। कंपनी ने दंगल, सूरमा और सुल्तान जैसी फिल्मों के लिए भी स्पोर्ट्स वेयर बनाएं हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट