Home » Industry » Service SectorIn slowdown girls bought more cosmetic product

नौकरी खतरे में देख लड़कियां करती हैं कुछ ऐसा, हो जाती हैं सेफ

बात जब नौकरी पर खतरे की हो तो भी वह कुछ अलग ही करती है। ऐसा करके वह अपनी नौकरी में बच भी जाती है।

1 of

नई दिल्ली. महिलाओं की हमेशा ख्वाहिश होती है कि दूसरों से अलग दिखें। चाहे वह फैशन हो या उनके काम की बात हो। उनके अलग होने का अंदाज अच्छे और बुरे दौर दोनों में दिखता है। बात जब नौकरी पर खतरे की हो तो भी वे कुछ अलग ही करती हैं। ऐसा करके वह अपनी नौकरी में बच भी जाती हैं। इस बात का खुलासा दुनिया की कई स्टडीज में भी हुआ है।

 

ये कहती है स्टडी

अमेरिका की टेक्सास क्रिस्टिआन यूनिवर्सिटी के सर्वे मुताबिक मुश्किल इकोनॉमिक टाइम में ब्यूटी प्रोडक्ट की सेल सबसे ज्यादा बढ़ती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि लड़कियां अच्छा दिखने के लिए कॉस्मेटिक प्रोडक्ट पर अपना खर्च बढ़ा देती हैं। ऐसा करने से उनका कॉन्फिडेंस बढ़ता है। रिपोर्ट के अनुसार महिलाएं सबसे ज्यादा लिपिस्टक और आई मेकअप पर खर्च करती है।

 

 

यहां बढ़ी कॉस्मेटिक की सेल

देश के कई बड़े सेक्टर्स टेलिकॉम, टेक्सटाइल कन्सॉलिडेशन के कारण छंटनी चल रही है। ऐसे में महिलाओं ने भी कॉस्मेटिक प्रोडक्ट पर खर्च बढ़ा दिया है। टेलिकॉम सेक्टर में ही काम करने वाली जैस्मिन ढल ने moneybhasakar.com को बताया कि उनकी कंपनी में छंटनी की जा रही है। ऐसे में अपने को अच्छा और अट्रैक्टिव महसूस करने के लिए उन्होंने हाल में ही कॉस्मेटिक प्रोडक्ट खर्च बढ़ाया है।

 

आगे पढ़े - कॉस्मेटिक की बढ़ी सेल

 

कॉस्मेटिक की बढ़ी सेल

देश में कॉस्मेटिक सेल को लेकर जब moneybhasakar.com ने कंपनियों से बात की तो डाबर के एक अधिकारी ने बताया कि कॉस्मेटिक की सेल बढ़ रही है। महिलाएं खुद को बेहतर दिखने के लिए कॉस्मेटिक का खर्च बढ़ा रही हैं। डाबर का न्यू यू रिटेल स्टोर है, जहां लेक्मे से लेकर लॉरेल, शेम्बोर जैसे तमाम कॉस्मेटिक ब्रांड एक छत के नीचे बिचते हैं। एचयूएल के प्रवक्ता ने बताया कि उनकी कॉस्मेटिक सेल बीते क्वार्टर में डबल डिजिट में रही है। एचयूएल के लेक्मे और एल18 ब्रांड जैसे कॉस्मेटिक ब्रांड है।

 

आगे पढ़े - इससे पहले स्लोडाउन में बढ़ी है कॉस्मेटिक सेल

 

इससे पहले स्लोडाउन में बढ़ी थी कॉस्मेटिक सेल

महिलाएं मेकअप का इस्तेमाल प्रोफेशनली आगे रहने और दूसरों से बेहतर दिखने के लिए करती हैं। साल 2008-09 में आए स्लोडाउन के समय में भी कॉस्मेटिक की सेल सबसे ज्यादा बढ़ी थी। तब कॉस्मेटिक ब्रांड लॉरेल की सेल 5.3 फीसदी बढ़ गई थी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट