विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorGovt new rule for hotel and restaurant

केंद्र का नया नियम, होटल और रेस्टोरेंट मालिकों की बढ़ा सकता है मुसीबत, खाना-पीना हो सकता है महंगा

एक मार्च से लागू होगा केंद्र सरकार का नया नियम

1 of

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने लोगों के स्वास्थ्य को मद्देनजर रखते हुए रेस्टोरेंट और होटल के लिए एक नया नियम बनाया है। इसके तहत होटल और रेस्टोरेंट अब जले तेल यानी तेल का बार-बार इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। नियम के तहत एक दिन में 50 लीटर से ज्यादा खाने के तेल का इस्तेमाल का हिसाब देना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जले हुए तेल से ट्रांसफैट जैसी बीमारी हो जाती है।  

 

कैसे लागू होगा नियम 

रेस्टोरेंट मालिकों को खाने के तेल को दोबारा गर्म न करने का निर्देश दिया गया। नियम के तहत सरकारी जांच कंपनियां तेल के इस्तेमाल नमूने के फूड कमीशनर की देखरेख में समय-समय पर जांच होगी। अगर सरकारी जांच में दिए गए नमूने में ट्रांस फैट की मात्रा ज्यादा पायी गई, तो रेस्टोरेंट या फिर होटल का लाइसेंस निरस्त हो सकता है। 

 

खाना-पीना हो सकता है महंगा

केंद्र सरकार का यह नियम 1 मार्च से लागू होगा, जो होटल और रेस्टोरेट मालिकों की मुसीबत बढ़ा सकता है, दिल्ली के लाजपत नगर स्थित बाबा नागपाल कार्नर के मालिक लवलेश सोनी और नरेश सोनी बतात हैं कि सरकार का नया नियम लागू होने से तेल की खपत बढ़ जाएगी। इससे होटल और रेस्टोरेंट की कुल लागत बढ़ जाएगी। इसका बोझ ग्राहक पर भी पड़ेगा। ऐसे में आने वाले दिनों में खाना-पीना महंगा हो सकता है।   

 

नियम बनाने की क्यों पड़ी जरूरत 

तेल के बार-बार इस्तेमाल से ट्रांसफैट बढ़ता है। ट्रांसफैट को धीमा जहर कहा जाता है, जो हृदय और गुर्दा समेत शरीरी की कई तरह की बीमारियों के लिए जिम्मेदार होता है और कई बार मौत की वजह बनता है। सरकार खाने के तेल का इस्तेमाल बॉयो डीजल बनाने में किया जाएगा। 

खाद्य पदार्थ की शेल्फ लाइफ बढ़ाने में होता है ट्रांस फैट का इस्तेमाल

दुनिया में हर साल करीब पांच लाख लोग दिल की बीमारी से मारे जाते हैं। इसमें ट्रांसफैट एक मुख्य वजह बनकर उभरा है। भारत में इससे हर साल 60,000 लोगों की मौत होती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक ट्रांस फैट को तरल वनस्पति तेल में हाइड्रोजन मिलाकर तैयार किया जाता है, ताकि उसे और भी ठोस बनाया जा सके और खाद्य पदार्थ की शेल्फ लाइफ बढ़ाई जा सके। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss