विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorDigital Communications Commission to discuss charging of spectrum fees on usage basis

TRAI की बैठक आज, 4जी इंटरनेट स्पीड बढ़ाने के लिए मिल सकती है मंजूरी

दूरसंचार कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम शुरू करने में भी मदद मिलेगी

Digital Communications Commission to discuss charging of spectrum fees on usage basis

नई दिल्ली। टेलीकॉम कंपनी यदि ट्राई की सिफारिश पर मंजूरी दे देती है तो 4जी इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों को दोगुनी इंटरनेट की स्पीड दी जाएगी। ट्राई ने हाल ही में ई और वी स्पेक्ट्रम बैंड के डिलाइसेंस को मंजूरी देने की सिफारिश की है। आज आयोग की बैठक होने वाली है और उम्मीद की जा रही है कि इस बैठक में इसपर मंजूरी मिल सकती है। बैठक में यदि इसे मंजूरी मिल जाती है तो इसका सीधा फायदा ग्राहकों को मिलेगा। आपको बता दें  कि अभी तक दुनिया में ई और वी स्पेक्ट्रम बैंड की निलामी नहीं हुई है।

 

आज बैठक में होगी इसपर बातचीत


ई बैंड की क्षमता 71.86 मेगाहर्ट्ज और वी बैंड की क्षमता 57.64 मेगाहर्ट्ज होती है। दूरसंचार मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया, ट्राई ने इंटरनेट की स्पीड बढ़ाने के लिए इन बैंड को डिलाइसेंस करने की सिफारिश की है। आज होने वाली बैठक में इस पर बातचीत की जाएगी। 

 

दूरसंचार कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम शुरू करने में भी मदद मिलेगी


अधिकारी के अनुसार, यदि इसे मंजूरी मिल जाती है तो सभी सेवा प्रदाता कंपनियां ये बैंड लगाएंगी। जिसके बाद ग्राहकों को गोदुनी इंटरनेट सेवा मिलेगी। गौरतलब है कि ट्राई ने 2017 में आयोग से इस लेकर सिफारिश की थी। ये दोनों ही बैंड मिलने के बाद दूरसंचार कंपनियों को 5जी स्पेक्ट्रम शुरू करने में भी मदद मिलेगी। इसके साथ ही उम्मीद की जा रही है कि ठक में कैपेटिव वी सैट के लिए लाइसेंस शुल्क घटाने की मंजूरी प्रदान किया जा सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन