विज्ञापन
Home » Industry » Service SectorCondition of the service sector is poor employment generation at the lower level of last six months

सर्विस सेक्टर की हालत खराब, रोजगार सृजन पिछले छह माह के निचले स्तर पर

सर्विस सेक्टर की कंपनियों को मिलने वाले आर्डर में गिरावट

Condition of the service sector is poor employment generation at the lower level of last six months

Condition of the service sector is poor employment generation at the lower level of last six months नए ऑर्डरों तथा रोजगार सृजन में गिरावट से मार्च में देश के सेवा क्षेत्र की रफ्तार सुस्त पड़ी और इसका निक्केई सूचकांक घटकर 52 पर रह गया। निक्केई द्वारा गुरुवार को यहाँ जारी भारतीय सेवा कारोबार गतिविधि सूचकांक रिपोर्ट में कहा गया है कि सेवा कंपनियों को मिलने वाले नए ऑर्डरों की वृद्धि दर फरवरी के मुकाबले मार्च में घट गई।

नई दिल्ली। नए ऑर्डरों तथा रोजगार सृजन में गिरावट से मार्च में देश के सेवा क्षेत्र की रफ्तार सुस्त पड़ी और इसका निक्केई सूचकांक घटकर 52 पर रह गया। निक्केई द्वारा गुरुवार को यहाँ जारी भारतीय सेवा कारोबार गतिविधि सूचकांक रिपोर्ट में कहा गया है कि सेवा कंपनियों को मिलने वाले नए ऑर्डरों की वृद्धि दर फरवरी के मुकाबले मार्च में घट गई। इन कंपनियों की बिक्री बढ़ी जरूर, लेकिन वृद्धि की रफ्तार पिछले साल सितम्बर के बाद सबसे कम है। इस क्षेत्र में रोजगार सृजन भी छह महीने के निचले स्तर पर रहा। इससे सेवा क्षेत्र का सूचकांक फरवरी के 52.5 से घटकर 52 पर आ गया जो छह महीने का निचला स्तर है। 

मार्च में विनिर्माण क्षेत्र का सूचकांक फरवरी के 54.3 से घटकर 52.6 रह गया था


सूचकांक का 50 पर होना स्थिरता दर्शाता है। इसका 50 से ऊपर होना वृद्धि का और उससे कम रहना गिरावट का द्योतक है। इससे पहले 02 अप्रैल को जारी रिपोर्ट के अनुसार मार्च में विनिर्माण क्षेत्र का सूचकांक फरवरी के 54.3 से घटकर 52.6 रह गया था। सेवा तथा विनिर्माण क्षेत्र का संयुक्त सूचकांक फरवरी के 53.8 से घटकर मार्च में 52.7 रह गया जो छह महीने का निचला स्तर है। 

सेवा क्षेत्र में गिरावट की मुख्य वजह उत्पादों की कीमतों में हुई बढ़ोतरी रही


निक्केई के लिए रिपोर्ट तैयार करने वाली एजेंसी आईएचएस मार्किट की मुख्य अर्थशास्त्री पॉलियाना डी लीमा ने सेवा क्षेत्र के आंकड़ों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुये कहा “चौथी तिमाही के अंत में सेवा क्षेत्र में गिरावट की मुख्य वजह नये कारोबार की वृद्धि दर का कमजोर पड़ना और उत्पादों की कीमतों में हुई बढ़ोतरी रही हैं। चुनौतिपूर्ण आर्थिक परिस्थितियों और क्लाइंट की ओर से कंपनियों को भुगतान में देरी चिंता का विषय हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Recommendation
विज्ञापन
विज्ञापन