Advertisement
Home » इंडस्ट्री » सर्विस सेक्टरAllocation of 44 percent routes under UDAAN-1 cancelled

मोदी सरकार के ड्रीमप्रोजेक्ट को बड़ा झटका, हवाई चप्पल पहनकर हवाई सफर करने के सपने पर लगी 'रोक'

हवाई यात्रा का सपना देख रहे लोगों को अब और इंतजार करना होगा

1 of

नई दिल्ली.

मोदी सरकार की ‘हवाई चप्पल वाले को हवाई जहाज का सफर कराने’ के उद्देश्य से छोटे तथा मझौले शहरों के लिए शुरू की गयी किफायती विमान/हेलिकॉप्टर सेवा योजना ‘उड़ान’ (उड़े देश का आम नागरिक) को बड़ा झटका लेगा है। इसके पहले चरण में आवंटित 44 प्रतिशत मार्गों का आवंटन रद्द कर दिया गया है। यानी इन रूट्स पर हवाई यात्रा का सपना देख रहे लोगों को अब और इंतजार करना होगा।

 

उड़ान स्कीम के पहले चरण के तहत 128 रूटों का आवंटन किया गया था। आधिकारिक

जानकारी के अनुसार इनमें 56 रूटों का आवंटन रद्द कर दिया गया है। इनमें वे रूट शामिल हैं जिन पर आवंटी कंपनी या तो सेवा शुरू ही नहीं कर सकी या सेवा शुरू तो की, लेकिन उसकी 30 प्रतिशत से ज्यादा उड़ानें रद्द रहीं।

Advertisement

 

 

इन रूटों की उड़ानें हुई रद

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसारएयर ओडिशा को आवंटित 40 रूट और एयर डेक्कन को आवंटित 16 रूटों पर उड़ानें रद्द की गयी हैं। एयर अोडिशा को 50 और एयर डेक्कन को 34 मार्गों का आवंटन किया गया था। इनके अलावा ट्रूजेट को 18, एयर इंडिया की इकाई अलायंस एयर को 15 और स्पाइसजेट को 11 मार्गों का आवंटन हुआ है। इन मार्गों का आवंटन 30 मार्च 2017 को किया गया था और हवाई अड्डा तैयार होने के छह महीने के भीतर कंपनी को सेवा शुरू करनी थी।

 

ऐसे काम करती है उड़ान स्कीम

उड़ान’ या क्षेत्रीय संपर्क योजना (आरसीएसके तहत दूरी के हिसाब से हर मार्ग का अधिकतम किराया तय कर दिया गया है। हर उड़ान में आधी सीटें योजना के तहत बुक की जाती है जबकि शेष सीटों की बुकिंग कंपनी बाजार मूल्य के हिसाब से कर सकती है। अधिकतम किराया तय होने से विमान सेवा कंपनी को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए आरसीएस कोष से उसे पैसा दिया जाता है। प्रति सीट न्यूनतम क्षतिपूर्ति मांगने वाली कंपनी को मार्ग का आवंटन किया गया है। उड़ान के दूसरे चरण में भी रूटों का आवंटन 24 जनवरी 2018 को किया जा चुका है। इसमें 325 रूटों का आवंटन किया गया था।

 

 

गुवाहाटी से हो सकती है इस योजना की पहली अंतरराष्ट्रीय उड़ान

उड़ान योजना के तहत गुवाहाटी पहला ऐसा शहर हो सकता है जिसे अंतरराष्ट्रीय मार्गों से जोड़ा जाएगा। उड़ान योजना के तहत वहनीय अंतरराष्ट्रीय संपर्क के लिएअसम सरकार गुवाहाटी-ढाका और गुवाहाटी-बैंकॉक मार्ग पर चलने वाली फ्लाइट की कुछ निर्धारित संख्या की सीटों पर क्रमश: 2,370 रुपये एवं 4,400 रुपये की छूट दे सकती है। असम ने उड़ान योजना के तहत गुवाहाटी से छह स्थानों सिंगापुरबांग्लादेश के ढाकाम्यामां के यंगूननेपाल के काठमांडूमलेशिया के कुआलालम्पुर और थाईलैंड के बैंकॉक तक छूट प्राप्त अंतरराष्ट्रीय संपर्क का प्रस्ताव दिया था। उड़ान योजना के अंतरराष्ट्रीय संस्करण के तहत छूट राज्य की ओर से दी जाएगी केंद्र सरकार की ओर से नहीं।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement