बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Service Sectorपैसों से अब नहीं मिलेगी एमबीबीएस की डिग्री, फिसड्डी डॉक्‍टरों से बचाएगा ये कानून

पैसों से अब नहीं मिलेगी एमबीबीएस की डिग्री, फिसड्डी डॉक्‍टरों से बचाएगा ये कानून

सरकार ने विदेशों से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिए भी राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करना अनिवार्य कर दिया है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। सरकार ने विदेशों से एमबीबीएस की पढ़ाई करने के लिए भी राष्ट्रीय पात्रता प्रवेश परीक्षा (नीट) उत्तीर्ण करना अनिवार्य कर दिया है।  बाहर से डिग्री लेकर आने वाले फिसड्डी डॉक्‍टरों से बचाने के लि‍ए सरकार ने यह कदम उठाया है। अब तक विदेशों से एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले डॉक्टरों को देश में प्रैक्टिस से पहले 'फॉरेन मेडिकल ग्रेजुएट इग्जाम' नामक एक स्क्रीनिंग परीक्षा पास करनी होती थी। 


भारतीय चिकित्सा परिषद ने स्क्रीनिंग टेस्ट नियमन, 2002 में संशोधन के लिए को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के पास एक प्रस्ताव भेजा था जिसमें विदेशों में दाखिले से पहले नीट उत्तीर्ण करना अनिवार्य बनाने की सिफारिश की गयी थी। मंत्रालय ने बताया कि उसने इस प्रस्ताव का अनुमोदन कर दिया है।


बि‍ना प्रवेश परीक्षा के मि‍ल जाता था दाखि‍ला 
मंत्रालय ने बताया कि उसके संज्ञान में यह आया था कि कई विदेशी विश्वविद्यालय एवं संस्थान बिना किसी प्रवेश परीक्षा के भारतीय छात्रों को दाखिल दे देते थे। यहां छात्र मोटी फीस देकर दाखि‍ला ले लेते हैं। बाद में यह पाया जाता है कि कई छात्र स्क्रीनिंग परीक्षा पास नहीं कर पाते। इसलिए अब विदेशों में एमबीबीएस में दाखिले से पहले नीट उत्तीर्ण करना अनिवार्य बनाया गया है।  नयी व्यवस्था मई 2018 से लागू होगी।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट