विज्ञापन
Home » Industry » Service Sector3G jammers in tihar jail

तिहाड़ जेल प्रशासन ने लगाए 3G जैमर, कैदी 4G से नेटवर्क से कर रहे वीडियो कॉलिंग

3G जैमर 4जी नेटवर्क पर कॉलिंग करने वाले को नहीं रोक सकते हैं।

3G jammers in tihar jail

3G jammers in tihar jail: टेक्नोलॉजी अपडेट के मामले में सरकारी प्रशासन से ज्यादा आम लोग आगे हैं। ऐसा ही एक वाक्या दिल्ली की तिहाड़ जेल में आया, जहां जेल प्रशासन की ओर से कैदियों को जेल से बाहर बातचीत करने से रोकने के लिए 3G जैमर लगाया था।

नई दिल्ली. टेक्नोलॉजी अपडेट के मामले में सरकारी प्रशासन से ज्यादा आम लोग आगे हैं। ऐसा ही एक वाक्या दिल्ली की तिहाड़ जेल में आया, जहां जेल प्रशासन की ओर से कैदियों को जेल से बाहर बातचीत करने से रोकने के लिए 3G जैमर लगाया था। लेकिन कैदी जेल प्रशासन से ज्यादा खुद को अपडेट निकले। एनबीटी की रिपोर्ट के मुताबिक कैदियों ने 4G टेक्नोलॉजी के दम पर तिहाड़ जेल में जैमर लगे होने के बावजूद फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं। 

 

3G जैमर 4जी नेटवर्क पर कॉलिंग रोकने में नाकाम 

तिहाड़ जेल परिसर में जो जैमर लगे हैं , वो 4जी नेटवर्क पर कॉलिंग करने वाले को रोक ही नहीं सकते। इतना ही नहीं, दिल्ली की मंडोली और रोहिणी जेल में तो जैमर लगे ही नहीं है, जहां कैदी मोबाइल ले जाने में कामयाब हो जाते हैं और लगातार कॉलिंग कर रहें है और पकड़ने में नहीं आ रहा है। इस मामले में तिहाड़ जेल के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि जेलों में चल रहे मोबाइल फोन को रोकने के लिए हम दो कंपनियों के संपर्क में हैं। उम्मीद है कि कुछ समय में इस समस्या का समाधान कर दिया जाएगा। 

 

मंडोली और रोहिणी जेल में भी नए जैमर जैमर लगाए

जेल प्रशासन कुछ ऐसा करने की सोच रहा है, जिससे कि पिछली बार की तरह जेल स्टाफ के भी मोबाइल फोन बंद ना हो। तिहाड़ के अलावा मंडोली और रोहिणी जेल में भी नए जैमर जैमर लगाए जाएंगे। सूत्रों का कहना है कि यहां कैदियों को पता है कि उनके 4जी फोन के नेटवर्क 3जी जैमर ठप नहीं कर सकते। इसलिए कुछ कैदी आराम से इस कमी का फायदा उठाते हुए मोबाइल फोन से ना केवल कॉलिंग कर रहे हैं बल्कि कुछ तो अपने घर परिवार या अन्य लोगों को विडियो कॉल तक कर रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss