Home » Industry » RetailGovt may provide accidental insurance to retailers, many other benefits proposed in new retail policy

6 करोड़ खुदरा व्यापारियों काे सरकार देगी इंश्योरेंस, रिटेल नीति में और भी कई सुविधाएं

छोटे कारोबारी 24 घंटे कर सकेंगे कारोबार, महिलाएं भी रात में कर सकेंगी काम

1 of

नई दिल्ली.

उद्योग व वाणिज्य मंत्रालय देश के खुदरा व्यापारियों को दुर्घटना बीमा देने की योजना बना रहा है। वहीं सरकार खुदरा कारोबारियों के लिए कई अन्य सुविधाएं ला रही हैं। सरकार ऐसा फार्मूला भी बना रही है जिससे कारोबारी 24 घंटे काम कर सकेंगे। ऐसा माहौल तैयार किया जाएगा जिससे महिलाएं भी नाइट शिफ्ट में या रात के 8 बजे के बाद दुकानों में, डिपार्टमेंटल स्टोर में काम कर सकेंगी। खुदरा नीति तैयार करने की जिम्मेदारी डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्रियल पॉलिसी एंड प्रमोशन (DIPP) को दी गई है। हाल ही में डीआईपीपी के अधिकारियों एवं खुदरा कारोबारियों के बीच इस नीति को लेकर विचार-विमर्श किया गया। सरकार की नई नीति से देश के 6  करोड़ से अधिक खुदरा कारोबारियों को लाभ हो सकता है। कनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स के मुताबिक देश में 6 करोड़ से अधिक खुदरा कारोबारी है। कनफेडरेशन सरकार से लगातार रिटेल पॉलिसी लाने की मांग करता रहा है ताकि खुदरा कारोबारी ऑनलाइन ट्रेड का मुकाबला कर सके।

 

ये हाेंगे प्रावधान

ईज ऑफ डूइंग बिजनेस सूची में भारत को शीर्ष 50 देशों में शामिल करने के उद्देश्य से सरकार खुदरा कारोबार के नियमों में बदलाव करने की योजना बना रही है। इसके तहत खुदरा व्यापार के लिए एक नेशनल पॉलिसी बनाई जाएगी, स्पेशल इकोनॉमिक जोन की तर्ज पर स्पेशल रिटेल ट्रेड जोन बनाया जाएगी और व्यापारियों को 365 दिन काम करने की अनुमति मिलेगी। इतना ही नहीं डिजिटल पेमेंट्स पर इंसेंटिव, नेशनल ई-कॉमर्स पॉलिसी और दुर्घटना बीमा से जुड़े मुद्दों पर व्यापारियों की मांग पर भी सरकार एक्शन लेगी।

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

नाइट शिफ्ट में काम कर सकेंगी महिलाएं

इस मीटिंग में यह भी डिस्कस किया गया कि रिटेल सेक्टर में भी आईटी कंपनियों की तर्ज पर महिलाओं को नाइट शिफ्ट में काम करने की अनुमति मिलनी चाहए। इसके साथ ही उनके लिए सेफ वर्किंग एनवायमेंट बनाए जाने की जरूरत है।

 

आगे भी पढ़ें-

 

 

 

दो साल में 53 पायदान ऊपर उठा भारत

वर्ल्ड बैंक की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस सूची में भारत ने दो साल में 53 पायदान की छलांग मारी है। इसके साथ ही भारत 190देशाें में से 77वें पायदान पर आ गया है। इसके साथ ही भारत दक्षिण एशिया में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के मामले में शीर्ष पर और ब्रिक्स देशों में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट