Advertisement
Home » इंडस्ट्री » रिटेलMajor contaminants in your food packing, FSSAI will introduce new regulations

जिस पैकेट में आप ले जाते हैं मिठाई और खाने पीने का अन्य सामान, उसमें जहर है , सरकार सजग, ला रही नए कानून

FSSAI के सर्वे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ

1 of

नई दिल्ली। सावधान, आप जिस डिब्बे में मिठाई में खाने पीने का सामान ले जाते हैं, उसमें जहर है। यह चौंकाने वाला खुलासा फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड एथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) के एक सर्वे में सामने आया है। टीओआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, FSSAI की ओर से खाने-पीने के सामानों की पैकिंग पर किए गए सर्वे में खुलासा हुआ है कि 80 फीसदी रंगीन पैकेटों, 59 फीसदी काले कैरीबैग, 24 फीसदी एल्युमिनियम कोटेड डिस्पोजेबल कंटेनर्स में खतरनाक कैमिकल होता है। यह खतरनाक कैमिकल हमारी सेहत के लिए जहरीला साबित हो रहा है। 

 

लोगों की सेहत के लिए सरकार लाएगी नए कानून
लोगों की सेहत के लिए सजग सरकार इस जहरीली पैकिंग पर रोक लगाने के लिए जल्द ही कदम उठाने जा रही है। इस संबंध में FSSAI जल्द ही नया नोटिफिकेशन जारी करेगी। इस नोटिफिकेशन के जरिए FSSAI ऐसे पैकिंग मैटेरियल पर प्रतिबंध लगाएगी जो रिसाइक्लड प्लास्टिक से बने होंगे। इसमें खाने ले जाने वाले और खाना पैक करने वाला सामान भी शामिल होगा। FSSAI के एक अधिकारी के अनुसार, डाई और इंक में मौजद कैंसरकारक तत्वों को देखते हुए अखबार और अन्य प्रिंटिड मैटेरियल में खाने पीने के सामान की पैकिंग पर भी प्रतिबंध लगाया जाएगा। अधिकारी के अनुसार, यह नए नियम सोमवार को जारी हो सकते हैं।

Advertisement

लोकल बाजारों में इस्तेमाल हो रहे सेहत के लिए खतरनाक बैग


FSSAI के सर्वे के अनुसार, लोकल बाजारों में खाने को पैक करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाला सामान ज्यादा खतरनाक है। सर्वे के अनुसार, लोकल बाजारों से लिए गए नमूनों में से 13 फीसदी नमूने फेल हुए हैं, जबकि संगठित क्षेत्र के सामानों के अधिकांश नमूने सही पाए गए हैं। लोकल बाजारों से लिए गए नमूनों में खतरनाक कैमिकल और भारी मात्रा में दूषित पदार्थ मिले हैं। FSSAI के अधिकारी ने बताया कि पैकेजिंग के नए नियम भारत में फूड सेफ्टी को नए स्तर पर ले जाएंगे।

1 जुलाई 2019 से लागू होंगे नए नियम


FSSAI के चीफ एग्जीक्यूटिव पवन अग्रवाल का कहना है कि फूड पैकेजिंग को लेकर जारी होने वाले नए नियमों से शुरुआत में अनऑर्गेनाइज्ड सेक्टर को थोड़ी परेशानी होगी। नए नियमों के अनुरुप ढलने के लिए हम उन्हें पर्याप्त समय देंगे। उन्होंने कहा कि फूड पैकेजिंग के लिए जारी होने वाले नए नियम 1 जुलाई 2019 से लागू होंगे। इन कहा कि इन नियमों को जारी करने का प्राथमिक उद्देश्य खाने-पीने के सामान को कैमिकल और प्रदूषण रहित रखना है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement