Advertisement
Home » Industry » RetailGovt Plans To Open 1500 Jan Aushadhi Kendra By March 2019, Apply Now

जन औषधि केंद्र खोलना चाहते हैं तो अभी करें आवेदन, सरकार देगी 2.50 लाख रु. की सहायता, होगी बढ़िया कमाई

मार्च तक सरकार 1500 जन औषधि केंद्र खोलने जा रही है

1 of

नई दिल्ली.

अगर आप भी जन औषधि केंद्र खोलना चाहते हैं तो जल्द कीजिए। सरकार ने इसके लिए आवेदन मंगवाए हैं। साथ ही सरकार ने इसके आवेदन में लगने वाली फीस को भी हटा दिया है। इसकी जानकारी मंगलवार को रसायन और उर्वर राज्य मंत्री मनसुख एल. मांडविया ने संसद में दी। उन्होंने यह भी बताया कि PMBJP केंद्र खोलने के लिए आवेदन शुल्क माफ कर दिया गया है ताकि अधिक से अधिक लोग इस योजना के तहत आवेदन कर सकें। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना केंद्र, सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और सभी जिलों में खुलें। सरकार चाहती है कि लोगों को उचित दाम में गुणवत्तापरक दवायें मिलें।

 

मार्च तक 1500 नए केंद्र खुलेंगे

उन्होंने कहा कि 5 फरवरी को देश के 651 जिलों में कुल 5,001 PMBJP केंद्र चल रहे थे। सरकार इस साल मार्च तक 1500 नए जनऔषधि केंद्र खोलने जा रही है। इसके जरिए आप महीने में अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं। इस योजना की सबसे बड़ी खासियत है कि केंद्र खोलने वाले व्यक्ति को 2.50 लाख रुपए की सहायता सरकार की तरफ से दी जाती है जो सेल्स आधारित है। PMBJP के तहत 800 से अधिक दवाओं और 154 सर्जिकल और इस्तेमाल में लाई जाने वाली वस्तुएं आती हैं। इसमें एंटी-इंफेक्टिव, एंटी-डायबिटीज, कार्डियोवास्कुलर, एंटी-कैंसर, गैस्ट्रो-आंतों की दवाएं शामिल हैं, जो काफी सस्ते दामों पर मुहैया कराई जाती हैं।

 

होगी इतनी कमाई

जनऔषधि केंद्र के जरिए महीने में जितनी दवाओं की बिक्री होगी, उसका 20 फीसदी कमिशन के रूप में मिलेगा। इसके अलावा हर महीने की बिक्री पर अलग से 15 फीसदी इंसेंटिव मिलेगा। इंसेंटिव की अधिकतम सीमा 10 हजार रुपए प्रति माह होगी। सरकार की योजना के अनुसार, 2.50 लाख रुपए तक का इंसेटिव दिया जाएगा। जनऔषधि केंद्र खोलने में भी तकरीबन 2.5 लाख रुपये का खर्च आता है। इस तरह यह पूरा खर्च सरकार खुद उठा रही है।

 

 

कौन खोल सकता है यह केंद्र

प्रधानमंत्री जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 120 वर्गफुट की दुकान होनी जरूरी है। केंद्र खोलने वालों को सरकार की ओर से 800 दवाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। इसके अलावा सरकार ने जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए 3 तरह की कैटेगरी बनाई है। पहली कैटेगरी के तहत कोई भी व्यक्ति, फार्मासिस्ट, डॉक्टर, रजिस्टर्ड मेडिकल प्रैक्टिशनर यह केंद्र खोल सकता है। दूसरी कैटेगरी के तहत ट्रस्ट, एनजीओ, प्राइवेट हॉस्पिटल, सोसायटी और सेल्फ हेल्प ग्रुप आते हैं। तीसरी कैटेगरी में राज्य सरकारों की ओर से नॉमिनेट की गई एजेंसी आती हैं।

 

 

ऐसे करें आवेदन

जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग सेल्स का लाइसेंस जन औषधि केंद्र के नाम से होना चाहिए। आवेदन करने के लिए आधार कार्ड एवं पैन कार्ड की जरूरत होगी। वहीं, संस्थान, एनजीओ, हॉस्पिटल, चैरिटेबल संस्था को आवेदन करने के लिए आधार कार्ड, पैन कार्ड, पंजीयन प्रमाण पत्र देना होगा। अगर आप जनऔषधि केंद्र के लिए अप्लाई करना चाहते हैं तो http://janaushadhi.gov.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं इसके साथ ही आप http://janaushadhi.gov.in/pdf/NGO_PMBJP.pdf पर ज्यादा जानकारी पा सकते हैं।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement