• Home
  • Union minister ram vilas paswan unveils country made bullet resistant jackets

उपलब्धि /भारत ने बनाया विश्व स्तरीय बुलेटप्रूूफ जैकेट, कीमत 70-80 हजार रुपए

दिल्ली में बुलेटप्रूफ जैकेट का प्रदर्शन करते केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान। दिल्ली में बुलेटप्रूफ जैकेट का प्रदर्शन करते केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान।

  • अमेरिका, ब्रिटेन एवं जर्मनी जैसे देशों के समूह में शामिल हुआ भारत
  • मेक इन इंडिया के तहत हो रहा है जैकेट का निर्माण

Moneybhaskar.com

Oct 05,2019 05:13:00 PM IST

नई दिल्ली। केन्द्रीय उपभोक्ता, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान ने बताया कि भारत बुलेट रोधी जैकेटों के लिए अपने मानक के अनुसार जैकेट बनाने वाले अमेरिका, ब्रिटेन और जर्मनी जैसे चुनिंदा देशों के समूह में शामिल हो गया है। उन्होंने बताया कि भारत मानक ब्यूरो द्वारा तय मानक अंतर्राष्ट्रीय मानकों के बराबर है। जैकेट विश्व गुणवत्ता के अनुरूप है। जैकेटों की कीमत के बारे में उन्होंने कहा कि इनकी कीमत 70 हजार रुपए से 80 हजार रुपए के बीच है और यह कीमत पहले खरीदे जाने वाले जैकेटों की कीमत से कम है।

मेक इन इंडिया पहल के तहत किया निर्माण

उन्होंने बताया कि यह जैकेट प्रधानमंत्री मोदी की ‘मेक-इन-इंडिया’ पहल के अंतर्गत बनाए जा रहे हैं और कुछ देशों में इनका निर्यात किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे देश में रोजगार सृजन बढ़ेगा। जैकेट भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) द्वारा निर्धारित और दिसंबर,2018 में अधिसूचित मानक (आईएएस 17051: 2018) का उपयोग करते हुए बनाए गए हैं। इस मानक को नीति आयोग और गृह मंत्रालय के निर्देशों के अनुसार बनाया गया है। यह मानक भारतीय सशस्त्र बलों, अर्ध सैनिक बलों तथा राज्य पुलिस बलों की पुरानी मांग को पूरा करेंगे और उनकी खरीद प्रक्रिया को सहज बनाने में सहायक होंगे। जैकेट पहनने पर इसका वजन वास्तविक वजन से आधा महसूस होता है और यह सहजता से खुल सकता है। इसे जवान आवश्यकता के अनुसार आसानी से पहन सकते हैं और उतार सकते हैं। यह जैकेट पहनकर जवान अपने हथियारों का इस्तेमाल सहजता से कर सकते हैं।

आधा होगा वजन

अधिकारियों ने बताया कि पहले बुलेटप्रूफ जैकेट में लोहे का उपयोग होता था, जिसके कारण इसका भार 20 किलोग्राम तक का होता था, लेकिन इसमें बोरोन कार्बाइड का इस्तेमाल होता है, जो काफी सख्त होता है और इसे बुलेट छेद नहीं कर सकता है। साथ ही, इस जैकेट का वजन अब अधिकतम 10 किलोग्राम है और इसमें लगे लोड डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम का उपयोग करने पर इसका वजन पांच किलोग्राम तक हो जाता है। किसी दुर्घटना की स्थिति में अगर, सुरक्षाकर्मियों को जैकेट जल्द उतारने की आवश्यकता हो तो वह एक झटके में सेकेंड भर में इसे अपने शरीर से अलग कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि जैकेट में छह स्तरीय सुरक्षा के मानक तय किए गए हैं।

X
दिल्ली में बुलेटप्रूफ जैकेट का प्रदर्शन करते केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान।दिल्ली में बुलेटप्रूफ जैकेट का प्रदर्शन करते केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान।

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.