Home »Industry »Manufacturing» Industrial Output Slipped To 4 Month Low, Contracting Above 1 Per Cent In February.

इंडस्ट्रियल प्रोडक्‍शन चार महीने के निचले स्तर पर, फरवरी में 1.2 प्रतिशत घटा

इंडस्ट्रियल प्रोडक्‍शन चार महीने के निचले स्तर पर, फरवरी में 1.2 प्रतिशत घटा
नई दिल्‍ली।आज आर्थिक मोर्चे पर बड़ा झटका लगा है । दरअसल, फरवरी में इंडस्ट्रियल प्रोडक्‍शन  (आईआईपी)  में गिरावट आई है और निगेटिव में चली गई है। बुधवार को जारी आंकड़े में आईआईपी घटकर -1.2 फीसदी पर आ गई है जबकि जनवरी में आईआईपी की दर 3.27 फीसदी पर रही थी। इस तरह फरवरी में इंडस्ट्रियल प्रोडक्‍शन में बड़ी गिरावट दर्ज की गई है।
 
पिछले साल ऐसे रहे थे हालात
 
फरवरी, 2016 में इंडस्ट्रियल प्रोडक्‍शन  की ग्रोथ रेट 1.99 प्रतिशत रही थी। बीते वित्त वर्ष 2016-17 के पहले 11 माह यानी फरवरी तक इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन  कुल मिला कर 0.4 फीसदी की नाम मात्र की ग्रोथ के साथ एक साल पहले के स्तर पर ही बना रहा। वर्ष 2015-16 के पहले 11 महीनों में औद्योगिक ग्रोथ 2.6 फीसदी थी।
 
जनवरी के ग्रोथ रेट में संशोधन
 
सेंट्रल स्‍टेटिक ऑफिस (सीएसओ) ने जनवरी के इंडस्‍ट्रयिल प्रोडक्‍शन की ग्रोथ रेट के आंकड़ों को संशोधित कर 3.27 फीसदी कर दिया है। पिछले महीने जारी अस्थायी आंकड़े में जनवरी की ग्रोथ  2.74 फीसदी बतायी गई थी। इससे पहले अक्तूबर में इंडस्‍ट्रयिल प्रोडक्‍शन 1.87 फीसदी घटा था। इसके बाद नवंबर में यह 5.59 प्रतिशत चढ़ा था।
 
15 मैन्‍यूफैक्‍चरिंग सेक्‍टर का ग्रोथ निगेटिव 
 
-   कुल 22 इंडस्‍ट्री ग्रुप में से 15 मैन्‍यूफैक्‍चरिंग सेक्‍टर का ग्रोथ निगेटिव रहा। 
 
-  फरवरी में कंज्यूमर नॉन ड्यरेबल्स की विकास दर -8.6 हो गई है जो कि जनवरी में -3.2 फीसदी पर आई थी।
- फरवरी में कंज्यूमर गुड्स की ग्रोथ घटकर -5.6 फीसदी रही है जबकि जनवरी में ये -1 फीसदी पर आई थी।
-  फरवरी में माइनिंग सेक्टर की ग्रोथ घटकर 3.3 फीसदी रही है जो जनवरी में 5.3 फीसदी रही थी।
-  फरवरी में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की ग्रोथ घटकर -2 फीसदी रही है जो जनवरी में 2.3 फीसदी रही थी।
-  फरवरी में इलेक्ट्रिसिटी सेक्टर की ग्रोथ घटकर 0.3 फीसदी रही है जो जनवरी में 3.9 फीसदी रही थी।
-  फरवरी में बेसिक गुड्स की ग्रोथ घटकर 2.4 फीसदी रही है जो जनवरी में 5.3 फीसदी रही थी।
 
कैपिटलगुड्स की ग्रोथ में गिरावट  
 
महीने आधार पर फरवरी में कैपिटल गुड्स की ग्रोथ में बड़ी गिरावट आई और ये -3.4 फीसदी रही है जो कि जनवरी में 10.7 फीसदी पर आई थी। फरवरी में इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ बढ़कर -0.2 फीसदी रही है जबकि इससे पिछले महीने में इंटरमीडिएट गुड्स की ग्रोथ -2.3 फीसदी रही थी।

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY