विज्ञापन
Home » Industry » ManufacturingIndustry welcomed Modi government for next five years

उम्मीद / उद्योग जगत ने किया मोदी का स्वागत, कहा- मजबूत सरकार से आर्थिक वृद्धि को मिलेगा बढ़ावा

नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष बोले, बड़े सुधारों को आगे बढ़ाने का सही समय

Industry welcomed Modi government for next five years

नई दिल्ली। केंद्र में एक बार फिर मजबूत सरकार बनने के संकेतों के बीच उद्योग जगत ने खुशी जताई है। उद्योग जगत से जुड़े लोगों का कहना है कि केंद्र में मजबूत और स्थिर सरकार से आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा और विदेशी मुद्रा को बढ़ावा मिलेगा। मतगणना के बाद आ रहे संकेतों से साफ दिख रहा है कि केंद्र में एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की सरकार सत्ता में लौट रही है। 

गोदरेज समूह ने की कंपनी कर कम करने की मांग

जाने माने उद्योगपति और गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि गोदरेज ने कहा कि नई सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह देश की सकल आर्थिक उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि को और तेज करने की दिशा में काम करेगी। उन्होंने कहा कि कंपनी कर को कम करने की दिशा में भी कदम उठाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी कंपनी कर की दरें दुनिया में सबसे ऊंची दरों में से एक हैं। इन्हें कम किया जाना चाहिए। हालांकि, सरकार ने कंपनी कर की दर को घटाकर 25 प्रतिशत पर लाने का वादा किया हुआ है। कार्पोरेट कर के मामले में गोदरेज ने कहा कि उन्होंने छोटी कंपनियों के लिये इसे कम कर दिया है लेकिन बड़ी कंपनियों के मामले में ऐसा नहीं किया गया है। मेरा मानना है कि यह काफी महत्वपूर्ण है। और भी कई कदम हो सकते हैं जिनसे कि वृद्धि को बढ़ाने में मदद मिलेगी।

व्यवसाय और उद्यमियों के लिए अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत: पनगढ़िया

नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष अरविंद पनगढ़िया ने भी इसी तरह के विचार व्यक्त किए हैं। उन्होंने कहा कि यह बड़े सुधारों को आगे बढ़ाने और देश में पूरी तरह बदलाव लाने का समय है। सरकार को व्यवसाय और उद्यमियों के लिए स्वस्थ्य और अनुकूल माहौल बनाने की जरूरत है। इसके साथ ही उच्च-उत्पादकता के रोजगार पैदा करने की जिम्मेदारी भी लेनी चाहिए। लोकसभा चुनावों में मोदी लहर के चलते भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 300 से अधिक सीटें मिल रही हैं। भारतीय जनता पार्टी अकेले 295 सीटों के साथ सत्ता में लौट रही है। जबकि 50 सीटों के आसपास रह गई है। 

बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा का प्रवाह होगा: दमाणी

बंबई शेयर बाजार के सदस्य रमेश दमाणी का मानना है कि आने वाले समय में भारत में विदेशी मुद्रा प्रवाह बढ़ेगा। दमाणी का कहना है कि नीतियों में निरंतरता बनी रहेगी। देश में अभी भी बड़े पैमाने पर निवेश करने वाली वैश्विक कंपनियां मौजूद हैं। इन कंपनियों का निवेश अब तेज होगा। पिछले छह माह के दौरान जो भी समझौते हुए हैं, वह अब क्रियान्वित होंगे। इस प्रकार बड़ी मात्रा में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आकर्षित होगा। मेरा मानना है कि इस चुनाव के बाद विदेशी मुद्रा प्रवाह तेज होगा। हीरानंदानी हाउस के संस्थापक और निदेशक सुरेन्द्र हीरानंदानी ने कहा कि वह केन्द्र में स्थिर सरकार में विश्वास करते हैं। मजबूत सरकार के आने से रीयल एस्टेट क्षेत्र में वृद्धि और तेज होगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन