विज्ञापन
Home » Industry » ManufacturingAnother success of PM Modi's Make in India, after Apple's iPhone, Hyundai will also build its parts in India

मेक इन इंडिया / पीएम मोदी की एक और कामयाबी, एप्पल के आईफोन के बाद Hyundai भी भारत में करेगी मैन्युफैक्चरिंग

ह्युंडई मोटर्स इलेक्ट्रिक वाहनों के पार्ट्स भारत में बनवा सकती है, Tata Motors और महिंद्रा भी भारत में इस सेगमेंट पर जोर-शोर से लगी है

Another success of PM Modi's Make in India, after Apple's iPhone, Hyundai will also build its parts in India
  • सरकार इस बात पर जोर दे रही है कि इलेक्ट्रिक वाहनों के पार्ट्स भारत में बनें। इसे देखते हुए सुजुकी मोटर कॉर्प अपनी साझीदारों के साथ गुजरात के हंसलपुर में लिथियम आयन बैटरी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने पर काम कर रही है।

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया मिशन को विदेशी कंपनियां भी अपनाने लगी है। एप्पल के आईफोन के बाद अब दक्षिण कोरियाई कार निर्माता कंपनी ह्युंडई इलेक्ट्रिक वाहनों के कई पार्ट्स भारत में बनाने पर विचार कर रही है। इसमें बैटरी पार्ट्स भी शामिल हैं। यह भारत में अपनी सब्सिडियरी ह्युंडई मोटर इंडिया (एचएमआईएल) के जरिए ऑपरेट करती है।

इस साल आएंगे कंपनी की इलेक्ट्रिक कार

 कंपनी भारत में हाइब्रिड गाड़ियों को लेकर सरकार की पॉलिसी पर नजर रखे हुए है। यह इस साल भारत में अपना पहला इलेक्ट्रिक वाहन पेश करने की योजना बना रही है। ये वाहन चेन्नई प्लांट में बनेंगे। ह्युंडई इंडिया के एमडी और सीईओ एस किम ने कहा कि वे इस बारे में कई विकल्पों पर विचार कर रहे हैं। कंपनी सिर्फ भारत के लिए नहीं, बल्कि भारत से बाहर अपनी जरूरतों के लिए यहां इलेक्ट्रिक वाहनों के पार्ट्स बनवाने पर विचार कर रही है। ह्युंडई इंडिया की पैरेंट कंपनी बैटरी पार्ट्स के लिए स्थानीय सप्लायरों से संपर्क भी कर रही है।

यह भी पढ़ें - PM मोदी की 'मेक इन इंडिया' की बड़ी कामयाबी, भारत में बनने लगे iphone 7

दूसरी कंपनियां भी हैं कतार में 

सरकार इस बात पर जोर दे रही है कि इलेक्ट्रिक वाहनों के पार्ट्स भारत में बनें। इसे देखते हुए सुजुकी मोटर कॉर्प अपनी साझीदारों के साथ गुजरात के हंसलपुर में लिथियम आयन बैटरी मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने पर काम कर रही है। टाटा मोटर और महिंद्रा भी भारत में इस सेगमेंट पर जोर-शोर से लगी है। किम ने कहा कि भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों की ग्रोथ के लिए सरकारी सहयोग बेहद महत्वपूर्ण है।  कंपनी बैटरी पार्ट्स के लिए सप्लायरों से संपर्क कर रही है।

यह भी पढ़ें: अनछुए पहलु / कभी खंभों पर केबल के तार खींचते थे, अब बनाया राजधानी का विजन डॉक्यूमेंट

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन