Home » Industry » Manufacturing11 private firms would be involved in the ambitious project

सेना के लिए देश में बनेंगे 15 हजार करोड़ के आधुनिक हथियार, 30 दिनों की जंग में नहीं पड़ेंगे कम

भारतीय सेना ने रविवार को 15 हजार करोड़ के हथियारों की निर्माण परियोजना को मंजूरी दे दी।

1 of

नई दिल्ली. भारतीय सेना ने रविवार को 15 हजार करोड़ के हथियारों की निर्माण परियोजना को मंजूरी दे दी। इस परियोजना में देश में ही हाई टेक तकनीक वाले हथियार और टैंक बनाए जाएंगे। सरकार हथियारों के आयात में होने वाले विलम्‍ब को देखते हुए ऐसा कर रही है। इस प्रोजेक्ट के चलते 30 दिन लगातार चलने वाली जंग में भी सेना को हथियारों की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

 
 
निजी कंपनियों को भी किया शामिल 
आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, आर्मी के इस प्रोजेक्ट में 11 निजी फर्मों को भी शामिल किया जाएगा। परियोजना की निगरानी रक्षा मंत्रालय और आर्मी के टॉप अफसर करेंगे। प्रोजेक्ट का सबसे बड़ा मकसद है कि हथियारों के आयात पर विदेशाें की निर्भरता को खत्म किया जाए। सरकार के वरिष्ठ अफसर ने बताया, "परियोजना में 15 हजार करोड़ के हथियार तैयार होंगे।" सूत्रों की मानें तो इस परियोजना में रॉकेट्स लॉन्चर, एयर डिफेंस सिस्टम, आर्टिलरी बंदूकें और लड़ाई के लिए जरूरी गाड़ियां बनाई जानी हैं।परियोजना के पहले चरण के बाद प्रोडक्शन टारगेट का रिव्यू किया जाएगा।
 
 
हथियार निर्माण का अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट
बीते कई सालों में इसे देश में हथियारों के निर्माण का अब तक का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट करार दिया जा रहा है। चीन के अपने मिलिट्री खर्चों में बढ़ोतरी करने के बाद भारत की तरफ से भी इसकी जरूरत महसूस की जा रही थी। आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत भी दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी यानी भारत की आर्मी में हथियारों और गोलाबारूद की जरूरत की बात कह चुके हैं। वो क्षेत्र में सुरक्षा को लेकर खतरा भी बता चुके हैं।
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट